CVC के सामने पेश हुए CBI निदेशक, दिया आरोपों पर जवाब

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) निदेशक आलोक वर्मा शुक्रवार को केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के समक्ष पेश हुए। उन्होंने अपने ऊपर लगे घूस सहित अन्य सभी तरह के आरोपों को खारिज किया। 

बता दें कि निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ यह जांच सीबीआई स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना की शिकायत पर हो रही है। दरअसल सीबीआई निदेशक ने हैदराबाद के व्यापारी सतीश सना से तीन करोड़ रुपये की ​कथित घूस लेेने के आरोप में सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। इसके बाद राकेश अस्थाना ने सीबीआई निदेशक पर ही इस मामले में आरोपी को बचाने के लिए दो करोड़ रुपये घूस लेने का आरोप लगाया।

देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी सीबीआई के नंबर एक और नंबर दो अफसर के बीच मची रार सार्वजनिक हो गई तो केंद्र सरकार ने दखल दिया। केंद्र सरकार ने दोनों आला अफसरों को छुट्टी पर भेज दिया। इतना ही नहीं कई अन्य अफसरों का भी तबादला कर दिया। इस मामले में अब सीवीसी दोनों अफसरों के खिलाफ जांच कर रही है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सीबीआई निदेशक को छुट्टी पर भेजे जाने के केंद्र के फैसले पर सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। मल्लिकार्जुन खड़गे ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को अचानक छुट्टी पर भेजने के केंद्र को कदम को गैर-कानूनी बताया। लोकसभा में कांग्रेस नेता खड़गे ने अपनी याचिका में कहा कि अधिनियम के अनुसार ​सीबीआई निदेशक की नियुक्ति या उसे हटाने के बारे में नेता प्रतिपक्ष, प्रधानमंत्री और प्रधान न्यायाधीश की तीन सदस्यीय समिति को ही अधिकार है। 

यह भी पढ़ें: SC पहुंचे मल्लिकार्जुन खड़गे, कहा - 'CBI डायरेक्टर को इस तरह नहीं हटाया जा सकता है'

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: सहायक अध्यापक नियुक्ति रद, कोर्ट ने दिए CBI जांच के आदेश

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी