दिल्ली : लगातार बढ़ रहा प्रदूषण स्तर, इन चीजों पर लग सकता है बैन

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी​ दिल्ली की हवा में लगातार जहर बढ़ रहा है। कई ​इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 के आसपास पहुंच गया है। जिस तरह से प्रदूषण स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है इसके कई दुष्परिणाम सामने आ रहे है। इस प्रकोप से राजधानी को बचाने के लिए उच्चतम न्यायालय के आदेश पर दिल्ली और एनसीआर में एक ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान बनाया गया। 

इस प्लान में इस बात का जिक्र है कि वायु प्रदूषण के स्तर के हिसाब से किन-किन चीजों पर पाबंदी लगाई जाएगी और उसका पालन कौन करायेगा। प्लान के अंतर्गत एयर क्वालिटी जितनी खराब होती जायेगी ग्रैप के हिसाब से उतने कड़े कदम उठाये जाएंगे। फिलहाल दिल्ली में वायु प्रदूषण 400 के स्तर को पार कर रहा है जिसकी वजह से सीवर श्रेणी को लागू कर दिया गया है। 1 नवंबर से एयर क्वालिटी और बदतर होने की आशंका है। ऐसे में ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान के 'सीवर प्लस' या आपातकालीन श्रेणी को लागू कर दिया जाएगा। 10 जनवरी 2017 से ये ग्रैप लागू है।

प्रदूषण को रोकने के लिए बनाये गये इस प्लान में स्टोन क्रशर, भट्टियों को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा कोल आधारित पॉवर प्लांट बंद करना तय किया गया है। इसके तहत बदरपुर प्लांट को बंद किया गया है। साथ ही इसमें पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देना और नॉन पीक आवर में किराए पर छूट देने जैसे कदम है। इन सब उपायों के बाद भी अगर 1 नवंबर से लगातार 48 घंटे तक प्रदूषण खतरनाक स्तर पर बना रहता है तो इससे भी कड़े कदम उठाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: प्रदूषण फैलाने वालों की अब खैर नहीं

यह भी पढ़ें: सुल्तानपुर में हवा हुई सरकार की संजीदगी
 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी