दिल्‍ली: भूख से ही हुई थी बच्चियों की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Foto

भारत के समाचार

पूरी तरह से खाली थे तीनों बच्चियों के पेट

 

नई दिल्‍ली। राजधानी दिल्‍ली के मंडावली इलाके में तीन बच्चियों की संदिग्ध परिस्थियों में मौत हो गई थी। इन बच्चियों की मौत के मामले में  जांच करने वाली डॉक्‍टर ने बड़ा खुलासा किया है। दिल्‍ली के लाल बहादुर शास्‍त्री अस्‍पताल की डॉक्‍टर अमिता सक्‍सेना का कहना है कि तीनों बच्चियों के शरीर में वसा यानी फैट के बिल्कुल भी प्रमाण नहीं मिले। तीनों बच्चियों की पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार उनके पेट पूरी तरह से खाली थे।

 

यह भी पढ़ें- शूरवीरों ने अपने प्राणों का बलिदान देकर लहराया था तिरंगा...

 

बता दें, 25 जुलाई को दिल्ली के मंडावली इलाके में 8 साल की शिखा, 4 साल की मानसी और 2 साल की पारुल की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी। से तीनों बच्चियां सगी बहने थीं। इन तीनों को 24 जुलाई की शाम को बेहोशी की हालात में लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल लाया गया था, जहां उनकी मौत हो गई थी। मृतक बच्चियों के परिजनों का कहना है कि दोनों छोटी बहनों की तबीयत खराब थी और उन्हें उल्टी और दस्त लगे हुए थे।

 

यह भी पढ़ें- ये कोई झील नहीं जनाब, यह है योगी की एलिवेटेड रोड

 

दरअसल, बच्चों का पिता मंगल रिक्शा चलाता है, लेकिन कुछ दिन पहले उसका रिक्शा किसी ने छीन लिया था तब से मंगल के पास कोई काम नहीं था। पैसा नहीं होने की वजह से मकान मालिक ने मंगल और उसके परिवार को घर से निकाल दिया था।

 

यह भी पढ़ें- अब रिश्वत देने वाले को भी मिलेगी सजा

 

तीन दिन पहले ही वह अपने परिवार के साथ अपने दोस्त नारायण के घर पर रहने आ गया था। काम की तलाश में मंगलवार की सुबह घर से निकल गया, जो अभी तक नहीं लौटा। बच्चियों की देखभाल उनकी मां मीना करती थी लेकिन मीना मानसिक रूप से कमजोर है। उसे अभी तक समझ नहीं आ रहा कि आखिर उसकी तीनों बच्चियों की मौत कैसे हो गई। फिलहाल दिल्ली सरकार ने इस पूरे मामले की न्यायिक जांच बैठा दी है।

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी