EVM में पड़े वोटों का VVPAT की पर्चियों से मिलान की मांग

Foto

National News /  भारत समाचार

दिल्ली। सोमवार को चुनाव आयोग द्वारा बुलाई गई एक सर्वदलीय बैठक में लोकसभा चुनाव और और उसमें ईवीएम के प्रयोग को लेकर चर्चा की गई। कांग्रेस पार्टी ने इस बैठक में चुनाव आयोग से आगामी लोकसभा चुनाव में ईवीएम के बजाए बैलट पेपर से करवाने की मांग की, लेकिन इस मुद्दे पर कई पार्टियों की राय कांग्रेस से अलग रही। पार्टियों ने कहा कि अब चुनाव में ज्यादा समय नहीं बचा है। ऐसे में चुनाव बैलट पेपर से कराना कठिन होगा।
  कांग्रेस और अन्य पार्टियों ने चुनाव में ईवीएम के साथ ज्यादा से ज्यादा वीवीपीएट इस्तेमाल करने की भी सिफारिश की। कांग्रेस ने कहा कि चुनाव में लगभग 30 फीसदी वीवीपीएटी का इस्तेमाल होना चाहिए। वहीं आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनाव में करीब 20 फीसदी वीवीपीएटी इस्तेमाल की सिफारिश की। साथ ही विपक्षी पार्टियों ने चुनाव आयोग से EVM में पड़े वोटों का VVPAT की पर्चियों से मिलान करने की मांग की।

यह भी पढ़ें: डीजल की कीमतों ने तोड़े रिकॉर्ड, जानें

सर्वदलीय बैठक में वीवीपीएटी को बेहतर बनाने, वोटर लिस्ट को पारदर्शी बनाने, अधिक से अधिक वीवीपैट का प्रयोग करने और ईवीएम में वोट देने का समय बढ़ाने की मांग की।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने परिवार के मुखिया का बढ़ाया मान...

इस सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी), राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी), वाईएसआर कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), सीपीआई, समाजवादी पार्टी (एसपी), सीपीआई-एम, जनता दल सेकुलर (जेडीएस), केरल कांग्रेस मणि (केसीएम) और एआईयूडीएफ ने हिस्सा लिया।

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी