फिर डैंजर जोन में राष्ट्रीय राजधानी

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

प्रदूषण लेवल खतरनाक स्तर पर 

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की आबोहवा बेहद खराब हो गई है। दिल्ली पूरी तरह से गैस चेंबर में बदल गई है। राजधानी के कई इलाकों में प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी तक पहुंच गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकेड़े बताते हैं कि दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 337 दर्ज किया गया। इतने एक्यूआई बेहद खराब श्रेणी में आता है। यह इस सीजन का सर्वोच्च सूचकांक है।

दिल्ली के करीब 31 इलाकों में वायु गुणवत्ता बेहद खराब पाई गई है। इसके अलावा दो अन्य इलाकों में वायु गुणवत्ता का स्तर बेहद गंभीर पाया गया है। दिल्ली के सीआरआरयू मथुरा रोड और द्वारका सेक्टर आठ में प्रदूषण का स्तर क्रमश: 414 और 402 की गंभीर श्रेणी में दर्ज किया गया है। आंकड़ों के मुताबिक आनंद विहार, डीटीयू, मुंडका, नरेला, नेहरू विहार और रोहिणी में वायु गुणवत्ता बेहद खराब दर्ज की गई है।

बता दें कि एक्यूआई अगर 0 से 50 के बीच है तो यह अच्छी स्थिति को दर्शाता है। 50 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम श्रेणी, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बेहद खराब और 401 से 500 के बीच एक्यूआई गंभीर माना जाता है।

माना जा रहा है कि दिल्ली में एक दिन पहले दशहरे के मौके पर आतिशबाजी के कारण भी शहर की आबोहवा खराब हुई। अधिकारियों ने दशहरे के मौके पर पर्यावरण के अनुकूल जश्न मनाने की अपील की थी। लेकिन इसके बावजूद लोगों ने जमकर आतिशबाजी की। 

यह भी पढ़ें: चुनाव नजदीक है इसलिए RSS उठा रहा राम मंदिर मुद्दा : प्रवीण तोगड़िया

यह भी पढ़ें: साम्प्रदायिक बवाल की भेंट चढ़ा दशहरा, जमकर दो गुटों में हुआ पथराव और फायरिंग 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी