भारत सरकार ने जीआई लोगो टैगलाइन लांच किया

Foto

भारत के समाचार/ NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। भारत सरकार ने देश में बौद्धिक संपदा अधिकारों (intellectual property rights-IPRs) के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए भौगोलिक संकेतकों (Geographical Indications-GI) के लिए एक लोगो और टैगलाइन लांच किया है। प्राथमिक रूप से जीआई उत्पाद एक कृषिगत, प्राकृतिक अथवा मानव निर्मित उत्पाद (हस्तशिल्प और औद्योगिक सामान) होता है, जिसका उत्पादन एक निश्चित भौगोलिक क्षेत्र में किया जाता है।

 

ये भी पढ़ें- अब प्लास्टिक के कचरे से शुद्ध होगा पानी,लखनऊ के वैज्ञानिकों ने निकाली...

 

इस तरह का टैग उस उत्पाद की गुणवत्ता और विशिष्टता का आश्वसन देता है जो विशेष रूप से परिभाषित भौगोलिक क्षेत्र अथवा देश में इसकी उत्पत्ति से संबद्ध होता है। औद्योगिक संपत्ति और व्यापार के संरक्षण से संबंधित ट्रिप्स (Trade Related Aspects of Intellectual Property Rights-TRIPS) द्वारा पेरिस समझौते के अंतर्गत भौगोलिक संकेतकों को आईपीआर के तत्व के रुप में शामिल किया गया है।

 

ये भी पढ़ें- अलगाववादी नहीं चाहते कि बाहरी व्यक्ति जम्मू-कश्मीर में जमीनें खरीदें...

 

विश्व व्यापार संगठन (WTO) के सदस्य के रूप में भारत द्वारा सितंबर 2003 में वस्तुओं के भौगोलिक संकेतक (पंजीकरण और संरक्षण) अधिनियम (Geographical Indications of Goods(Registration And Protection) Act) 1999 को अधिनियित किया गया।  

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी