सीबीआई की छापेमारी से मचा हड़कंप, आईएएस बी. चंद्रकला के घर पहुंची टीम

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

 

नई दिल्ली। हाईकोर्ट के आदेश पर अवैध रेत खनन मामले में शनिवार को सीबीआई ने दिल्ली और यूपी सहित कई स्थानों पर ताबतोड़ छापेमारी की। सीबीआई की टीम आईएएस अफसर बी. चंद्रकला के लखनऊ स्थित आवास पर भी पहुंची। चंद्रकला का आरोपों से गहरा नाता है। उन पर अपने चहेतों को पट्टा देने का आरोप है।

 


रह चुकी हैं डीएम


बताते चलें कि बी चंद्रकला हमीरपुर और बुलंदशहर की जिलाधिकारी रह चुकी हैं। वैसे तो छापेमारी को लेकर चंद्रकला खुद ही तेज तर्रार अफसर मानी जाती हैं। लेकिन अवैध धंधों में शामिल होने का आरोप लगने के बाद उन्हीं की गर्दन पर सीबीआई की तलवार लटकी हुई है। डीएम जैसे अहम पदों पर रहते हुए चंद्रकला पर काली करतूतों को अंजाम देने का आरोप है। जबकि, उनको खुद ही इस तरह के मामलों पर रोक लगाना चाहिए। 

 

फ्लैट नंबर 101 में छापा 


सीबीआई अफसरों की टीम ने चंद्रकला के लखनऊ स्थित आवास सफायर अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 101 में छापेमारी की। इसके साथ ही सीबीआई की टीम हमीरपुर, जलौन, बुलंदशहर समेत कई स्थानों पर भी छापेमारी करने पहुंची। सीबीआई सपा जिलाध्यक्ष व एमएलसी रमेश मिश्रा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संजीव दीक्षित के आवास और कार्यालायों पर भी पहुंची। सीबीआई की एक टीम दिल्ली में भी छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि आईएएस के आवास से सीबीआई को अहम दस्तावेज भी हाथ लगे हैं। 


दिए थे खनन के पट्टे


समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव सरकार में आईएएस बी.चन्द्रकला को पहली बार तैनाती हमीरपुर में दी गई थी। उन पर आरोप है कि 2012 के बाद यहां 50 मौरंग के खनन के पट्टे किए थे। चन्द्रकला ने सभी मानकों और नियमों को अपने ठेंगे पर रखते हुए पट्टे बांट दिए थे। नियमों की अनदेखी कर इस कारनामे को अंजाम देने वाली बी चंद्रकला पर सीबीआई की निगाहें टेढ़ी हो चुकी है। मौरंग का पट्टा देने के लिए ई-टेंडर की व्यवस्था है। 

 

 


सभी पट्टे अवैध


गौरतलब है कि 2015 में हाईकोर्ट में याचिका डाली गई थी कि बी चंद्रकला के द्वारा जितने भी पट्टे खनन को लेकर जारी किए गए सभी अवैध हैं। वहीं, कोर्ट ने भी हमीरपुर में जारी 60 पट्टों को अवैध घोषित करते हुए रद्द कर दिया था। शिकायतकर्ता याची विजय द्विवेदी का आरोप है कि रोक लगने के बाद भी मौरंग का खनन खुलेआम किया गया। हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

 

यह भी पढ़ें: मणिपुर में पीएम मोदी - 'न्यू इंडिया की तस्वीर यहीं से उभरेगी'

 

यह भी पढ़ें: राम मंदिर को लेकर क्या बोले पीएम मोदी?

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी