भारत की पोप्यूलेशन ग्रोथ रेट को बढ़ा-चढ़ाकर किया गया प्रोजेक्ट

Foto

भारत के समाचार/ NATIONAL NEWS

 

नई दिल्ली। ऑस्ट्रिया में इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट फॉर एप्लाइड सिस्टम्स एनालिसिस के विश्व जनसंख्या कार्यक्रम के वैज्ञानिकों के मुताबिक भारत की जनसंख्या वृद्धि दर उतनी भी ज्यादा नहीं है जितनी कि मौजूदा मॉडलों से आँकी जाती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि लोगों के बीच विविधता और शिक्षा के स्तर में अंतर से अधिक सटीक आंकड़ें प्राप्त करने में मददद मिल सकती है। शोधकर्ताओं ने कहा कि सटीक जनसंख्या अनुमान भारत और उसके कार्यबल को प्रति उच्च जीडीपी वाले अधिक विकसित एशियाई देशों की बराबरी करने में मदद कर सकता है।

 

ये भी पढ़ें- जारी हुआ राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर का आखिरी मसौदा

 

भारत एक अत्यंत विविधतापूर्ण उपमहाद्वीप है। एक देश होने के कारण इसे यूरोप के समान इकाई नहीं माना जाना चाहिए। आने वाले दशकों में भारत का पूर्वानुमान काफी हद तक इस बात पर निर्भर करेगा कि विविधता के किन स्त्रोतों को मॉडल में शामिल किया जाएगा। 2025 तक भारत उच्च प्रजनन दर और युवा आबादी के कारण चीन के कारण चीन को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बनने की ओर अग्रसर है।

 

ये भी पढ़ें- ओबीसी उप-वर्गीकरण की जांच के लिए तीसरे विस्तार की हुई मांग

 

भारत के विभिन्न क्षेत्रों के बीच विविधता के संबंध में शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन तैयार किया है। इसमें भारत की जनसंख्या विविधता को समझने के लिए पांच आयामी मॉडल को शामिल किया गया। इन आयामों में निवास, राज्य, आयु, लिंग और शिक्षा स्तर के ग्रामीण या शहरी क्षेत्र शामिल हैं। इस मॉडल का इस्तेमाल जनसंख्या अनुमान परिवर्तन को दिखाने के लिए किया गया जो इन कारकों को विभिन्न स्तरों को जोड़ती है। उदाहरण के लिए, एक मॉडल के बहुत अधिक जनसंख्या अनुमान जो समग्र राष्ट्रीय अनुमान की तुलना में अलग-अलग राज्यों से प्राप्त डेटा को जोड़ता है, क्योंकि उच्च प्रजनन दर वाले राज्य अंतत: उच्च राष्ट्रीय आबादी अनुमान में शामिल होते हैं।

 

ये भी पढ़ें- सबरीमाला में महिलाओं की एंट्री पर फैसला सुरक्षित  

 

यदि अनुमान केवल उम्र और लिंग के आधार पर किया जाता तो प्रभावशाली कारक जैसे- उच्च शिक्षा, कम प्रजनन क्षमता से जुड़े कारक छूट जाते। इस प्रकार अशिक्षा और ग्रामीण महिलाओं की वर्तमान में उच्च प्रजनन दर के आधार पर एक अनुमान भविष्य में वृहद् रूप से बड़ी आबादी की भविष्यवाणी करता है।

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी