बड़ा खुलासा : आईएसआईएस के निशाने पर थे मोदी, जानिए कैसे मारना चाहता था ये आतंकी

Foto

India news / भारत के समाचार

नई दिल्ली। गुजरात की एटीएस ने आज एक बड़ा खुलासा किया है। एटीएस का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आईएसआईएस के निशाने पर थे। भारत में सक्रिय इस आतंकी संगठन के सदस्य उन पर हमला करना चाहता था। गुजरात एटीएस ने अंकलेश्वर अदालत में यह चार्जशीट फाइल की है। एटीएस ने अक्टूबर 2017 में दो संदिग्ध को गिरफ्तार किया था​ जिनसे यह सूचना मिली है।

एटीएस ने इस सम्बंध में उनके मोबाइल फोन और पेन ड्राइव बरामद किए हैं जिसमे यह सारी जानकारी मौजूद है। दरअसल गुजरात एटीएस ने अक्टूबर 2017 को दो संदिग्ध उबैद मिर्जा और कासिम स्तिमवेरवला को गिरफ्तार किया था। ये दोनों ही सूरत के रहने वाले थे। एटीएस के एक अधिकारी के मुताबिक उबैद मिर्जा पेशे से एडवोकेट है जबकि कासिम लैब टेक्निशयन है। अधिकारी का कहना है कि कासिम ने गिरफ्तारी के तीन हफ्ते पहले अपनी नौकरी छोड़ दी थी और व जमैका भागना चाहता था।

अधिकारी के मुताबिक वह जमैका के कट्टरपंथी शेख अब्दुल्लाह अल फैसल के सम्पर्क में था और उसके साथ जिहादी मिशन में शामिल होना चाहता था। इसके लिए उसने जमैका का वर्क परमिट भी हासिल कर लिया था लेकिन उसके भागने से पहले एटीएस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। एटीएस का कहना है कि ये दोनों संदिग्ध प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्नाइपर रायफल से शूट करना चाहते थे और ये दोनों उसे हासिल करने की फिराक में थे।

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी