ISRO ने लांच किया सबसे हल्‍का सैटेलाइट, पीएम मोदी ने दी बधाई

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने श्रीहरिकोटा से पीएसएलवी सी 44 उपग्रह सफलतापूर्वक प्रक्षेपित कर दिया। यह उपग्रह कलामसैट और माइक्रोसेट लेकर गया है।

इस अंतरिक्ष अभियान की खास बात पीएसएलवी के नए रूप की उड़ान है। विद्यार्थी उपग्रह कलामसैट को विधार्थियों ने और चेन्‍नई स्थित स्‍पेस किड्स इंडिया ने तैयार किया है।

माइक्रोसैट और कलामसैट प्रक्षेपित करने वाले पीएसएलवी सी 44 अभियान के बाद इसरो इस साल 32 अभियान संचालित करेगा।

प्रक्षेपण के बाद इसरो के अध्‍यक्ष डॉ शिवन ने इस अभियान को महान सफलता बताया। उन्‍होंने कहा कि रॉकेट ने बहुत अच्‍छी तरह से माइक्रोसैट आर को उसकी निर्धारित कक्षा में प्रवेश करा दिया।

डॉ शिवन ने कहा कि कलामसैट भारत के गणतंत्र दिवस पर एक महान उपहार है। उन्‍होंने कहा कि इसरो की विज्ञान की विशिष्‍टता वाले देश के निर्माण के लिए युवा प्रतिभाशाली छात्रों को जोड़ने की भी योजना है। 

इसरो के अध्यक्ष के शिवम ने इस प्रक्षेपण के सफल अभियान में शामिल छात्रों को शुभकामाएं दी, और कहा कि इसरो के दरवाजे देश भर के छात्रो के लिए खुले हुए है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएसएलवी के एक और सफल प्रक्षेपण के लिए अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को हार्दिक बधाई दी। ट्वीट पर पीएम ने कहा कि इस प्रक्षेपण के साथ ही भारत स्पेस रॉकेट के चौथे चरण का माइक्रोग्रेविटी प्रयोग के लिए कक्षीय मंच के रूप में इस्तेमाल करने वाला पहला देश बन गया। । इस प्रक्षेपण से देश के प्रतिभाशाली छात्रों का बनाया कलामसैट कक्षा में स्थापित हो गया।

यह भी पढ़ें: ISRO लॉन्च करेगा दुनिया का सबसे छोटा सैटेलाइट

यह भी पढ़ें: कुछ अनोखी है 'उत्तर प्रदेश' के उदय की कहानी!

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी