बड़ी खबरः काले धन पर मोदी एक्शन फेल, स्विस बैंकों पर धनकुबेर मेहरबान

Foto

Inadia News / भारत के समाचार


नोटबंदी के बावजूद 2017 में स्विस बैंकों में बढ़ा भारतीयों का 50 फीसद काला धन


नई दिल्ली। काला धन के खिलाफ मोदी सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान के बीच स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) से आयी खबर ने केंद्र सरकार के दावों की बखिया उधेड़ दी है। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) द्वारा जारी ताजा आकंड़ों के मुताबिक यहां जमा भारतीयों के काले धन में भारी इजाफा हुआ है।

 

यह भी पढ़ें - आधार की जगह VID होगा अनिवार्य.....

 

नोटबंदी के बाद स्विस बैंकों में भारतीयों के काला धन में आई गिरावट के बाद फिर 50 फीसद बढ़कर करीब 7 हजार करोड़ रुपये (एक अरब स्विस फ्रैंक) हो गया है। पिछले 3 सालों में स्विस बैंकों में भारतीयों के काले धन में कमी आई थी। एसएनबी की यह खबर उस वक्त सामने आई है जब मोदी सरकार लगातार काले धन के खिलाफ अभियान चलाए जाने का दावा कर रही है।

बता दें काले धन की समस्या को हल करने के लिए भारत और स्विटजरलैंड के बीच कुछ महीने पहले ही सूचनाओं के आदान—प्रदान की व्यवस्था पर सहमति बनी थी। इसी व्यवस्था के चलते एसएनबी ने यह आकंड़े जारी किए हैं। इससे स्विट्जरलैंड के बैंकों का मुनाफा 2017 में बढ़कर 9.8 अरब फ्रैंक हो गया है।

 

यह भी पढ़ें -  संकट में है "लाइफ इंश्योरेंस कंपनी" की लाइफ ...

 

इससे पहले 2016 में मुनाफा घटकर 7.9 अरब फ्रैंक रह गया था। ताजा आंकड़ों के अनुसार स्विस बैंक खातों में जमा भारतीयों के धन में ग्राहक जमाओं के रूप में 3200 करोड़ रुपये, अन्य बैंकों के जरिए 1050 करोड़ रुपये शामिल है। इन सभी मदों में भारतीयों के धन में 2017 में बढ़ोतरी हुई। स्विस बैंक खातों में रखे भारतीयों के धन में 2011 में इसमें 12%, 2013 में 43%, 2017 में इसमें 50.2% की वृद्धि हुई। इससे पहले 2004 में यह धन 56% बढ़ा था। 

 

 

 

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी