JNU विवाद- कन्हैया, खालिद को नहीं मिली राहत, देना होगा जुर्माना

Foto

देश के समाचार/ NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। जेएनयू की उच्च स्तरीय जांच समिति ने विश्वविद्यालय परिसर में नौ फरवरी 2016 की घटना के मामले में उमर खालिद के निष्कासन और कन्हैया कुमार पर लगाए गए 10,000 रूपये के जुर्माने को बरकरार रखा है। जेएनयू के 15 छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में एक कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमें भारत विरोधी नारे लगाए जाने के साथ संसद पर आतंकी हमले के मास्टरमाइंड अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के फैसले की निंदा की गई थी।

 

ये भी पढ़ें- संस्कृति हत्या कांड में फोरेंसिक रिपोर्ट के बाद आया नया मोड़ ...



इस घटना के बाद खालिद सहित जेएनयू के कई छात्रों पर देशद्रोह के आरोप लगाए गए। घटना के तीन दिन बाद ही कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था। जेएनयू पैनल ने इस मामले में खालिद और दो अन्य छात्रों के निष्कासन और तत्कालीन छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर 10,000 रूपये का जुर्माना लगाया था। पैनल ने 21 छात्रों को अनुशासन भंग करने का दोषी पाया था। हालांकि छात्र संघ और जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन ने इसका विरोध किया था।

 

ये भी पढ़ें- 24 घंटे जाग कर जवान कर रहे अमरनाथ यात्रियों की मदद...



इसके बाद छात्रों ने दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। हाईकोर्ट ने खालिद और कन्हैया को जमानत दे दी थी। बीजेपी के आनुषंगिक संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने इस घटना के विरोध में देशव्यापी अभियान चलाया था। अभी तक दिल्ली पुलिस की तरफ से इस मामले में कोई चार्जशीट दाखिल नहीं की गई है।

 

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी