पश्चिम बंगाल की संस्कृति और परम्परा का अपमान कर रही ममता सरकार : पीएम मोदी

Foto

India News / भारत के समाचार

सरकार ने अच्छा कदम उठाया है कि, खुद ममता बनर्जी हमारा स्वागत कर रही हैं

मिदनापुर में किसान रैली को किया संबोधित, एमएसपी को लेकर किसानों पर डाले डोरे


कोलकाता। पीएम मोदी ने सोमवार (16 जुलाई) को पश्चिम बंगाल की धरती से किसान रैली के जरिए ममता बनर्जी पर निशाना साधा तो किसानों के हितों को लेकर सरकार की तरफ से चलाई जा रही योजनाओं से भी परिचित कराया। इस दौरान उन्होंने ममता बनर्जा पर तंज कसते हुए कहा कि हमारे स्वागत के लिए मिदनापुर पोस्टरों से अटा-पटा है।

उन्होंने कहा कि मै  ममता दीदी का भी ह्रदय से आभार मानता हूं। मेरे स्वागत में उन्होंने भी यहां पर अपनी पार्टी के झंडे लगा दिए। मेरे स्वागत के लिए उन्होंने खुद के होर्डिंग यहां लगाए। हमारी सरकार ने इतना अच्छा कदम उठाया है कि खुद ममता बनर्जी हमारा स्वागत कर रही हैं। 

पीएम मोदी ने विशाल जनसमूह का संबोधन बंगाली भाषा से शुरू करते हुए उन्होंन वहां के लोगों से पूछा​ कि उन्होंने वामपंथी सरकार के जुल्मों से बचने के लिए उसे उखाड़ फेंका और ममता की सरकार बनायी लेकिन इन्होंने हालात और बुरे बना दिए। पीएम ने कहा अब वक्त आ गया है कि इस सिंडीकेट वाली सरकार से भी मुक्ति पा लें।

 

यह भी पढ़ें : IRCTC : अब किचन से गंदगी होगी खत्म, जानें

 

मां, माटी और मानुष की बात करने वाली राज्य सरकार का 8 साल का चेहरा लोगों के सामने आ चुका है। कहा कि यह सरकार नहीं सिंडीकेट है जहां बिना चढ़ावा चढ़ाये कालेजों में दाखिला तक नहीं होता तो विकास की बात छोड़ दीजिये। रैली में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, राहुल सिन्हा, केंद्रीय मंत्री अहलुवालिया, बाबुल सुप्रीयो, सुरेश पुजारी समेत तमाम पदाधिकारी मौजूद थे।

 

मोदी के भाषण के मुख्य अंश

 

— बोन्धुगण हमार नामोस्कार
— एई विपुल जोनो समागम देखे आमी खूब आन्दित होए
— आप सब इतनी विशाल संख्या में आशीर्वाद देने पहुंचे इसके लिए आभार व्यक्त करता हूं
— हेलीकाप्टर से जो जनसैलाब देखा वह अद्भुद था
— ममता दीदी का आभार व्यक्त करता हूं मेरे स्वागत में पूरे शहर में अपने झंड़े—होल्डिंग्स लगवाये
— यह बीजेपी की नहीं किसानों की जीत है
— यह मेदनीपुर का ऐतिहासिक मैदान है
— गांधी, नेताजी, चितरंजनदास, अरविंदों, श्यामा प्रसाद मुखर्जी यहां से जनता को संबोधित कर चुके हैं
— देश परिवर्तन के बड़े दौर से गुजर रहा है

 

यह भी पढ़ें : गुजरात बारिश और बाढ़ से तबाह, मुंबई में हाई टाइड का कहर


— आजादी के बाद पहली बार संकल्प से सिद्धि की यात्रा आगे बढ़ रही है
— दलित, गरीब, पीड़ित, शोषित, आदिवासी सभी नई संभावनाओं की तलाश में जुटे हैं
— हमारी सरकार के न्यूनतम समर्थन मूल्य से यहां के किसानों को बड़ी ताकत मिलेगी
— कई कमीशन, कमेटी बनी पर पुरानी सरकारों ने एमएसपी को टाले रखा
— यहां के प्रमुख पैदावार जूट में हमने 1700 रुपये तक की बढ़ोत्तरी की है
— किसान उपेक्षित हो तो समाज आगे नहीं बढ़ सकता
— गांव विकास से वंचित हो तो देश तरक्की नहीं कर सकता
— 2022 में किसानों की आय दोगुनी करने के संकल्प में हमारी सरकार काम कर रही है
— हमारी सरकार बाजार में सुधार, सही दाम मिले इस ओर भी तेजी से काम कर रही है
— फसलों के भंडारण के लिए भी हमने हजारों करोड़ का बजट दिया
— मार्केटिंग रिफार्म पर भी हमारी सरकार काम कर रही है
— आधुनिक खेती, नई टेक्निोलॉजी के समावेश पर भी काम हो रहा है
— मां, माटी और मानुष की बात करने वालों की हकीकत यहां के लोग जान चुके हैं

 

यह भी पढ़ें :  मुंबई पुणे हाईवे पर भीषण हादसा, सात लोगों की मौत और तीन घायल


— राज्य सरकार यहां की महान परम्पराओं को कुचल रही है, समान्य जीवन जीना मुश्किल है 
— राज्य सरकार के सिंडीकेट की रजामंदी के बिना यहां कुछ नहीं होता
— सड़कें, अस्पताल, कॉलेज आदि बनवाने के लिए भी सिंडीकेट की आज्ञा जरूरी है
— वामपंथी सरकारों ने जो हालात पैदा किए इन्होंने और ज्यादा खराब कर दिए
— जिस धरती से वंदेमातरम, जन गण मन की गूंज उठी उसे सिंडीकेट ने अपमानित किया
— हमारे दलित व निर्दोष कार्यकताओं की हत्या की, लोकतंत्र का खून किया
— यह संस्कारों की धरती है देश भक्तों की धरती है
— मुठ्ठी भर ये लोग इतिहास देख लें जुल्मियों की विदाई होती है
— बंगाल को फिर मौके की तलाश है
— आपके पड़ोसी राज्य त्रिपुरा ने यह कर के दिखाया है


बारिश में पंडाल गिरा, लोग शांति से सुनते रहे...इस पर पीएम ने ममता पर कसा तंज

 

पीएम मोदी की रैली में तेज हवा और बारिश के दौरान पंडाल का एक हिस्सा ढह गया। वहां मौजूद लोगों ने जल्द ही उखड़ा पंडाल हटाया। इस दौरान किसी भी प्रकार की शांति भंग नहीं हुई। यह देख पीएम मोदी ने ममता पर तंज कसा। कहा दीदी आप देख लीजिये इन लोगों को प्राकृति आपदा भी हिला नहीं सकी आपके जुल्म क्या हिलायेंगे। बारिश, सरकारी रुकावटें भी यहां आये लोगों को नहीं हिला सकीं। यही ताकत आपको हिला कर रख देगी।  

 

 

 

 

 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी