यादों को सजों लें, एक जुलाई से बंद हो जाएगा आपका मोबाईल...

Foto

भारत के समाचार/ INDIA NEWS

नई दिल्ली। दूरसंचार विभाग देशभर में अगले महीने एक बहुत बड़ा बदलाव करने जा रहा है।डीओटी अगले महीने यानी जुलाई से देशभर के मोबाइल नंबरों में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। इस समय देशभर में 10 डिजिट के मोबाइल नंबर देशभर में चल रहे हैं,लेकिन डीओटी के इस बदलाव के बाद 1 जुलाई से 13 डिजिट के मोबाइल नंबर मिलेंगे। हालांकि, यह बदलाव केवल नए नंबरों पर ही लागू होगा।इस खास बदलाव को करने का मकसद देश में इंटरनेट आधारित सेवाओं को बढ़ावा देना है।

 

यह भी पढ़े-दिल्ली में कूड़ा फैलाने वालो पर एमसीडी ने गिराई गाज 

 

जाने क्यों हो रहे है मोबाइल नम्बरों में परिवर्तन 

मोबाइल नंबर की 10 अंको  को बढ़ाकर 13 डिजिट करने के पीछे दूरसंचार विभाग का एक खास वजह है। दरअसल मशीन से मशीन (M2M) सेवा वाली डिवाइस को इंटरनेट कनेक्टिविटी के लिए एक खास प्रकार के सिम कार्ड की जरूरत पड़ती है।इनके लिए विशेष प्रकार के (M2M) सिम कार्ड प्रयोग किए जाते हैं। यह सिम कार्ड इंटरनेट कनेक्टिविटी बेहतर बनाए रखते हैं। इनकी कनेक्टिविटी को और बेहतर बनाए रखने के लिए दूरसंचार विभाग यह बड़ा बदलाव करने जा रहा है। M2M सेवा देने वाली डिवाइसेज स्मार्टहोम, फ्लीट मैनेजमेंट, ट्रैफिक कंट्रोल, सप्लाई चेन जैसी जगहों पर इस्तेमाल की जाती हैं।

 

यह भी पढ़े -IAS अफसरो ने खुद पर कार्यावही से बचने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में दाखिल कि याचिका 

 

दूरसंचार विभाग ने M2M सेवा वाले सिम कार्ड को 13 नंबर को करने वाले बदलाव को मंजूरी दे दी है।डीओटी ने 9 फरवरी 2018 को एक पत्र लिखकर सभी विभागों को इस संबंध में जरूरी कदम उठाने के लिए कहा है। डीओटी के अनुसार एक जुलाई से 13 डिजिट वाले M2M सेवा नंबर आवंटित किए जाएंगे। डीओटी ने सभी दूरसंचार सेवा प्रदाताओं को भी 1 जुलाई तक 13 डिजिट वाले नंबर से सभी सेवाओं जोड़ने के लिए कहा गया है।

बदलेंगे 10 अंको के मोबाइल नंबर 

डीओटी के इस बदलाव का असर मौजूदा समय में चल रहे 10 डिजिट वाले सभी M2M सेवा नंबरों पर पड़ेगा।इस बदलाव के बाद सभी 10 डिजिट वाले M2M सेवा नंबरों को 13 डिजिट वाले नंबरों में बदला जाएगा। यह काम एक अक्टूबर से शुरू होगा और 31 दिसंबर की पूरा करना होगा। हालांकि डीओटी की ओर से किए जा रहे इस बड़े बदलाव के असर अन्य सेवा वाले नंबरों पर नहीं पड़ेगा।

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी