प्रॉब्लम्स के साथ-साथ सॉल्यूशंस पर भी फिल्में देखने को मिलती हैं : पीएम मोदी

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि भारतीय फिल्‍मों ने संवेदनशील क्षमताओं की सशक्‍त अभिव्‍यक्ति से पूरे विश्‍व में भारतीय सिनेमा की पहचान बनाई है। उन्‍होंने कहा कि देश के मनोरंजन उद्योग ने मानवीय भावनाओं के सभी पहलुओं को सफलतापूर्वक सामने रखा है। 

मुम्‍बई में शनिवार को फिल्‍म प्रभाग के परिसर में देश के पहले राष्‍ट्रीय भारतीय सिनेमा संग्रहालय का उद्घाटन करते हुए पीएम मोदी ने विख्‍यात फिल्‍म निर्माता-निर्देशक और अभिनेता राजकपूर का उदाहरण दिया, जिनकी फिल्‍में पूरे विश्‍व में सराही गईं। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज की फिल्‍में नए भारत का आशावादी पक्ष प्रस्‍तुत करती हैं। नई सोच को सामने लाने में सिनेमा की मौन शक्ति का उल्‍लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने महिला सशक्तिकरण, खेल-कूद और शौचालय जैसे विभिन्‍न सामाजिक विषयों पर बनी हाल की सफल फिल्‍मों का उल्‍लेख किया। 

टॉयलेट जैसा विषय हो, वुमन एम्पावरमेंट जैसा विषय हो, स्पोर्ट हो, बच्चों के समस्या से जुड़े पहलू हो या फिर हमारे सैनिकों के शौर्य। आज एक से एक बेहतरीन फिल्में आप सबके माध्यम से देश तक पहुंच रही हैं। 

इन फिल्मों की सफलता ने सिद्ध किया है कि सामाजिक विषयों को लेकर भी अगर बेहतर विजन के साथ फिल्म बने तो वो बॉक्स ऑफिस में भी सफल हो और नेशन बिल्डिंग में अपना योगदान भी दे सकते हैं।  

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार फिल्‍मों की पाइरेसी रोकने के लिए 1952 के सिनेमेटोग्राफी अधिनियम में संशोधन पर विचार कर रही है। इस संशोधन के ज़रिए फिल्‍म रिकॉर्डिंग में कैमकॉर्डर के इस्‍तेमाल को दण्‍डनीय अपराध बनाया जाएगा।

इस अवसर पर सूचना और प्रसारण मंत्री राज्‍यवर्धन राठौड़ ने कहा कि देश में शूटिंग की अनुमति मांगने वाले विदेशी फिल्‍म निर्देशकों के लिए सारी प्रक्रिया एक ही स्‍थान पर जल्‍द निपटाने के उद्देश्‍य से फिल्‍म सुविधा केंद्र शुरू किया गया है। 

देश-विदेश के निर्माता है उनको एक सहुलियत हो, आसानी हो उनके सिंगल विंडो से ताकि जितनी भी पर्मिशन्स है वो एक जगह मिल सके। 2016 और 2017 में हमने सेंटर और एक्सलेंस फॉर गेमिंग, एनिमेशन एण्ड विजुवल इफेक्ट का एक रूप रखा और उसके लिए महाराष्ट्र सरकार ने हमें यहीं मुंबई में जगह दी थी। 

अभी हाल ही में कुछ हफ्ते पहले आप से कुछ लोग फिल्म जगत से जो लोग थे जो प्रधानमंत्री से मिले और उन्होंने आग्रह किया और प्रधानमंत्री ने तुरन्त जी एस टी को बदला और जो फिल्म की जो टिकट है 28 प्रतिशत से से घटाकर 18 प्रति किया और जो 100 रूपये से कम है वो तो सिर्फ 12 प्रतिशत।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने किया सिनेमा संग्रहालय का उद्घाटन

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी का वार, देश की जनता के खिलाफ है महागठबंधन

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी