massiar-banner

पांच राज्यों में एक साथ चुनाव करा सकता है चुनाव आयोग

Foto

भारत के समाचार/india news

नई दिल्ली। तीन राज्यों में विधान सभा चुनाव की तैयारी में जुटी राजनैतिक पार्टियों को चुनाव आयोग झटका दे सकता है,आयोग अब पांच राज्यों में एक साथ विधानसभा चुनाव कराने की तैयारी कर रहा है। पांच राज्यों में विस चुनाव की  दिसंबर माह के बीच में हो सकती है। आयोग छत्तीसगढ़ में दो व अन्य राज्यों में एक चरण में मतदान सम्पन्न करा सकता है। जिन दो और राज्यों के चुनाव होने हैं उनमें मिजोरम व तेलंगाना शामिल हैं।

तेलंगाना में विधानसभा चुनाव कराने की तैयारियां तेज करते हुए आयोग ने शनिवार को घोषणा की थी कि आठ अक्तूबर को अंतिम मतदाता सूची प्रकाशित होगी आयोग ने राज्य विधानसभा को समयपूर्व भंग किये जाने के बीच मतदाता सूची में संशोधन की प्रक्रिया रोक दी थी।

 

यह भी पढ़ें:   वृद्धाश्रम की संचालिका व वार्डन के खिलाफ केस दर्ज

 

आठ अक्तूबर को अंतिम मतदाता सूची प्रकाशित की जाएगी जिसका मतलब यह हुआ कि इस तारीख के बाद किसी भी समय चुनाव हो सकता है नई मतदाता सूची सामने आने के बाद आयोग कानूनी रूप से चुनाव कार्यक्रम घोषित करने के लिए तैयार होगा।

इससे पहले चुनाव आयोग ने उच्चतम न्यायालय के निर्देश के बाद राज्यसभा और विधान परिषद चुनावों के मतपत्रों से उपर्युक्त में से कोई भी नहीं (नोटा) विकल्प मंगलवार को वापस ले लिया। उच्चतम न्यायालय ने 21 अगस्त को कहा था कि राज्यसभा चुनाव के मतपत्र में नोटा का विकल्प नहीं होगा।

 

यह भी पढ़ें:   केरल नन रेप मामला : बिशप फ्रैंको मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग हुई तेज

 

लोकसभा और राज्य विधानसभाओं जैसे प्रत्यक्ष चुनावों में नोटा एक विकल्प के रूप में जारी रख सकता है फैसले के आलोक में चुनाव आयोग ने सभी राज्यों के प्रमुख निर्वाचन अधिकारियों को जारी एक आदेश में कहा राज्यसभा चुनाव और विधान परिषद चुनाव में अब नोटा का विकल्प नहीं होगा।
      

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी