PoK से गुजरने वाली पाक-चीन बस सेवा के विरोध में भारत

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर चलने वाली प्रस्तावित बस सेवा को लेकर चीन और पाकिस्तान से कड़ा विरोध दर्ज करा है। यह बस सेवा चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के अंतर्गत चलाई जानी है।

पकिस्तान के सरकारी मीडिया ने यह खबर दी कि एक प्राइवेट ट्रांसपोर्ट कंपनी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) के हिस्से के तहत 3 नवंबर से बस सेवा की शुभारंभ करने जा रही है। भारत लगातार देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के उल्लंघन का हवाला देकर सीपीईसी का विरोध करता आ रहा है। सीपीईसी का एक बड़ा हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजर रहा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक बयान में कहा कि भारत इस समझौते को मान्यता नहीं देता, इसलिए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर चलाई जाने वाली कोई भी बस सेवा भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन होगी।

रवीश कुमार ने ​कथित तौर पर 1963 के 'चीन-पाकिस्तान सीमा समझौते' को अवैध और अमान्य करार देने के भारत के रूख का हवाला देते हुए कहा कि पाक्स्तिान के नियंत्रण वाले जम्मू-कश्मीर से किसी भी तरह की बस सेवा भारत की संप्रभुता और क्षे​त्रीय अखंडता का उल्लंघन है।

यह भी पढ़ें: भारत को जापान देगा 316 अरब येन का लोन

यह भी पढ़ें: फौलादी इरादों वाली थी इंदिरा जिन्हें मारी गई थी 30 गोलियां

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी