पत्रकार की हत्या मामले में राम रहीम दोषी करार

Foto

भारत के समाचार/india news

17 को कोर्ट करेगी सजा का ऐलान,पंजाब व हरियाणा में बढ़ाई गयी सुरक्षा

चंडीगढ़।करीब 16 साल पहले हुई पत्रकार रामचंद्र की हत्या मामले में पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम सहित अन्य आरोपियों को शुक्रवार को दोषी करार दिया। कोर्ट सजा का ऐलान 17 जनवरी को करेगी। बता दें कि गुरमीत राम रहीम यौन शोषण के मामले में पहले से ही जेल में सजा काट रहा है।

गौरतलब है कि अक्टूबर 2002 में सिरसा में पत्रकार रामचंद्र की कुलदीप और निर्मल ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। जिस समय यह वारदात हुई उस वक्त राम रहीम का नाम एफआईआर मे नही था पर सीबीआई जांच के बाद 2006 में राम रहीम के ड्राईवर खट्टा सिंह के बयान के बाद उसका नाम मुकदमे मे शामिल किया गया।

पंचकूला कोर्ट में शुक्रवार को इस बड़े मामले की सुनवाई के चलते हरियाणा व पंजाब में सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। सीबीआई  ने वर्ष 2007 में राम रहीम समेत सभी आरोपियों के खिलाफ चलान दाखिल किया था।

आरोप यह है कि पत्रकार रामचंद्र ने साध्वियों का खत अपने अखबार में छाप दिया था जिसके बाद राम रहीम ने उसकी हत्या करवा दी थी। पत्रकार के पुत्र अंशुल के मुताबिक उसके पिता ने सबसे पहले साध्वी के द्वारा तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई को लिखी गयी चिठ्ठी को अपने अखबार में छापा था।

रामचंद्र सिरसा में एक साध्य दैनिक अखबार निकालते थे। उनक ेद्वारा साध्वी ​की चिठ्ठी छापे जाने के बाद उन्हे लगातार धमकियां मिलती रहीं। रामचंद्र के द्वारा मामला उठाये जाने के बाद पंजाब व हरियाणा हाईकोर्ट ने स्वत: इस मामले का संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिये थे।

24 अक्टूबर 2002 को आफिस से घर लौटने के बाद वे अपनी गली में चल रहे काम को देख रहे थे तभी दो लोगों ने उन्हे गोलली मार दी थी। 21 नवंबर को अपोलो अस्पताल में उपचार के दौरान उनकी मौत हो गयी। पत्रकार की मौत के उनके बेटे अंशुल ने कोर्ट में याचिका दायर कर मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी जिस पर कोर्ट ने 2003 में सीबीआई जांच के आदेश दिये थे।

यह भी पढ़ें:   दुबई में राहुल गांधी - 'मैं बिल्कुल आप जैसा, आपके मन की बात सुनने आया हूं'

यह भी पढ़ें:    5 सालों में प्रदूषण स्तर 20 से 30 फीसदी घटाने का लक्ष्य

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी