PM की बायोपिक को CBFC से क्लिन चिट, EC ने रिलीज पर लगाई रोक

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। पीएम नरेन्द्र मोदी की बयोपिक फिल्म मो लेकर उठापटक का दौर जारी है। लोकसभा चुनाव को लेकर शुरू से ही इसकी रिलीज डेट को लेकर विराधियों के स्वर तेज रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद माना जा रहा था कि 11 अप्रैल को फिल्म रिलीज होगी। लेकिन अब फिल्म के रिलीज पर अडंगा लग गया है। सुप्रीम कोर्ट-CBFC से क्लीन चिट मिलने के बाद EC ने  रिलीज पर रोक लगा दी है। अब पीएम की बायोपिक 11 अप्रैल को आप नहीं देख पाएंगे।

खबरों के मुताबिक निर्वाचन आयोग ने बायोपिक फिल्म ही नहीं हर ऐसी चीज पर रोक लगा दी है, जिनका संबंध राजनीतिक दृष्टिकोण का होगा। आयोग का मानना है कि राजनीतिक चीजें चुनाव में बाधाएं डाल सकती हैं। आयोग ने स्पष्ट किया है कि फिल्म को  इलेक्टॉनिक, सोशल मीडिया या सिनेमा के दूसरे माध्यम से प्रदर्शित नहीं किया जाएगा। साथ ही एक कमेठी भी गठित कर दी है, जो पूरे मामले की गहनता से जांच करेगी। फिलहाल जो भी हो आयोग का डंडा चलने के बाद पीएम की बायोपिक अब 11 अप्रैल को रिलीज नहीं होगी।

गौरतलब है कि फिल्म पर रोक लगाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली गई थी। जिस पर कोर्ट ने यह कहते हुए फिल्म पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था कि इस संदर्भ में क्या करना है, यह काम चुनाव आयोग का है। आयोग ही इस बात का निर्णय करेगा कि ये फिल्म आचार संहिता का उल्लंघन है या नहीं। कोर्ट ने यह भी कहा था कि अभी तक तो फिल्म को सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट भी नहीं मिला है। ऐसे में जल्दबाजी नहीं की जा सकती। 

गौरतलब है कि फिल्म बनने के बाद रिलीज को लेकर विपक्षी दलों ने विरोध जताना शुरू कर दिया था। यहां तक कि ये मामला हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच गया। आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए इस फिल्म के रिलीज पर रोक लगाने की मांग की गई। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने भी इस फिल्म को लेकर बड़ा आरोप लगाया था। मनसे ने यह बयान दिया था कि कोई भी फिल्म रिलीज होने से 58 दिन पहले फाइनल कॉपी सेंसर के पास भेजा जाता है। लेकिन पीएम के जीवन पर आधारित फिल्म 39 दिन में ही तैयार हो गई। इस फिल्म को विशेष रियायत क्यों दी गई। यहां तक कि उन्होंने सेंसर चीफ से इस्तीफा मांग दिया था। 

 यह भी पढ़ें: मसूद पर चीन के अडंगे को लेकर कांग्रेस-भाजपा आमने-सामने

यह भी पढ़ें:  ठाणे और कल्याण में 20 से अधिक उमीदवारों ने किया नामांकन 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी