जन औषधि दिवस पर पीएम मोदी का मंत्र - 'बाधा नहीं, केवल समाधान'

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। जन औषधि दिवस आज देशभर में मनाया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जन औषधि परियोजना के लाभार्थियों से बात की। पीएम मोदी ने कहा कि इस योजना से बीमारी के कारण संकट में फंसे परिवारों को मदद पहुंचाई जा रही है।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'हमारी सरकार कम कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाली दवाएं उपलब्ध करा रही है। योजना से 850 से ज्यादा दवाओं का मुल्य नियंत्रित किया है। हार्ट स्टेंट और घुटना प्रत्यारोपण से जुड़े इक्यूपमेंट्स के दाम कम किए गये हैं।'

प्रधानमंत्री जन औषधि योजना की उपलब्धि के बारे में पीएम ने बताया कि 2008 से लेकर 2014 तक 6 वर्षों में केवल 80 दुकानें खोली गई लेकिन 2014 के बाद 5 साल से भी कम अवधि में हमारी सरकार द्वारा 5 हजार से अधिक जन औषधि केंद्र खोले गए।

उन्होंने कहा कि आजादी के 65 वर्ष में देश में 7 एम्स बने थे। हमारी सरकार के बीते पांच साल में 15 एम्स या तो बन चुके हैं या बनने की प्रक्रिया चल रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोई इलाज से वंचित न रहे इसके लिए हमारी सरकार पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। सभी जन औषधि केंद्र संचालकों को मेरा कहना है कि आपको साल में एक बार अपने ग्राहकों का छोटा सा सम्मेलन करना चाहिए जिससे वो और लोगों को भी इस विषय में बताएं और जागरूक करें।

यह भी पढ़ें: लगातार तीसरे साल स्वच्छता में नंबर-वन बना इंदौर

यह भी पढ़ें: 7 मार्च : देशभर में मनाया जा रहा 'जन औषधि दिवस'


 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी