किसी को दुखी देखकर दुखी होने से बेहतर है कि उसे दुख दूर करने के लिए तैयार करें

Foto

भगवान बुद्व की जयंती कार्यक्रम का पीएम ने किया उद्घाटन 

नई दिल्ली। किसी के दुख को देखकर दुखी होने से ज्यादा बेहतर है कि उस व्यक्ति को उसके दुख को दूर करने के लिए तैयार करो, उसे सशक्त करो उन्होंने कहा कि इस बात की खुशी है कि हमारी सरकार करुणा और सेवाभाव के उसी रास्ते पर चल रही हैं जिस रास्ते को भगवान बुद्ध ने हमें दिखाया था,उक्त विचार आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगवान बुद्व की जयंती के कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद व्यक्त किये।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुद्ध जयंती के मौके पर दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम का उद्घाटन किया इसके बाद कार्यक्रम में अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा वक्त में विश्व को बचाने के लिए बुद्ध का करुणा प्रेम का संदेश काम आ सकता है और इसके लिए बुद्ध को मानने वाली शक्तियों के सक्रिय भूमिका निभानी होगी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि भारत की संस्कृति, इतिहास और सभ्यता इस बात की गवाह है कि हम कभी आक्रांता नहीं रहे, हमनें कभी भी किसी मुल्क पर हमला नहीं किया. उन्होंने कहा कि ब्रिटिश हुकूमत के दौरान अनेक वजहों से हमारे यहां अपनी सांस्कृतिक विरासत को सहेजने का कार्य उस तरीके से नहीं हुआ, जैसे होना चाहिए था इसी को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार अपनी सांस्कृतिक धरोहर और भगवान बुद्ध से जुड़ी स्मृतियों की रक्षा के लिए एक खास मिशन पर काम कर रही है।

कार्यक्रम का आयोजन संस्कृति मंत्रालय और इंटरनेशनल बुद्धिस्ट कन्फेडरेशन (आईबीसी) साथ मिलकर कर रहे हैं यहां पीएम मोदी ने पवित्र अवशेषों के दर्शन किए और कार्यक्रम का उद्घाटन किया गौरतलब है कि पीएम मोदी ने 2015 में बुद्ध जयंती दिवस को राष्ट्रीय पर्व के तौर पर मनाए जाने की घोषणा की थी।

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी