मुझे राहुल गांधी ने पाकिस्तान भेजा था : नवजोत सिंह

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

हैदराबाद। अपने पाकिस्तान दौरे को लेकर बढ़ते विवाद के बीच नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि करतारपुर साहिब गलियारा के शिलान्यास समारोह में शामिल होने के लिये उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वहां भेजा था। 

सिद्धू के दौरे से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह चिढ़े हुए हैं। उन्होंने कहा था कि अपने मंत्रिमंडल के सदस्य सिद्धू को उन्होंने अमृतसर में एक धार्मिक कार्यक्रम पर ग्रेनेड हमले में तीन लोगों के मारे जाने के बाद पाकिस्तान जाने से रोकने की कोशिश की थी, लेकिन उन्होंने इसे अनसुना कर दिया। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस हमले के लिये पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को जिम्मेदार बताया था।

नवजोत सिंह सिद्धू से शुक्रवार को जब उनके पाकिस्तान दौरे पर अमरिंदर सिंह की सहमति नहीं होने के बारे में सवाल पूछा गया तो कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री सिद्धू ने एक संवाददाता सम्मेलन में यहां कहा, 'राहुल गांधी मेरे कप्तान हैं। मुझे उन्होंने पाकिस्तान भेजा था।' उन्होंने कहा कि 50 से 100 कांग्रेसी नेताओं ने इस दौरे के लिये उनकी पीठ थपथपाई। कांग्रेस नेता ने हालांकि पंजाब के मुख्यमंत्री को 'पिता-तुल्य' करार दिया। 

बता दें कि पाकिस्तान के करतारपुर कॉरिडोर शिलान्यास समारोह से लौटे नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर विवादों को साथ लेकर लौटे हैं। सिद्धू की खालिस्तान आतंकी गोपाल सिंह चावला से साथ फोटो एक तस्वीर सामने आई है। इस फोटो से हर तरफ उनकी निंदा हो रही है। 

पूर्व क्रिकेटर और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के बुलावे पर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह में पहुंचे थे। पाकिस्तान से लौटते समय जब पत्रकारों ने ​सिद्धू से पूछा तो उन्होंने कहा कि गोपाल चावला कौन हैं, वह नहीं जाते।

बता दें कि चावला मुंबई हमले के गुनाहगार हाफिज सईद का करीबी माना जाता है। उसकी हाफिज के साथ तस्वीर भी सामने आ चुकी है। सिद्धू ने सफाई देते हुए कहा कि पाकिस्तान में मेरे साथ करीब पांच से दस हजार तस्वीरें खींची गई। मुझे नहीं पता कि गोपाल चावला कौन है।

यह भी पढ़ें: खालिस्तानी आतंकी के साथ फोटो पर बवाल, स्वामी की मांग - 'सिद्धू हो गिरफ्तार'

यह भी पढ़ें: बिना सहमति के पाकिस्तान गए सिद्धू : अमरिंदर सिंह

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी