massiar-banner

RBI से 3.6 लाख करोड़ की मांग जारी रखेगा केंद्र, भले उर्जित पटेल दें इस्तीफा!

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार और ​भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के बीच चल रही जंग जारी है। सूत्रों के मुताबिक सरकार देश की केंद्रीय बैंक से ऋण देने संबंधी मामले में राहत और उसके सरप्लस रिजर्व से 3.6 लाख करोड़ रुपये हासिल करने के लिए अपना दबाव जारी रखेगी। एक समाचार एजेंसी का कहना है कि अगर इससे बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल इस्तीफा देते हैं तो भी यह मांग जारी रखी जाएगी।

बीते सप्ताह केंद्र ने कहा था कि वह आरबीआई की स्वायत्तता का सम्मान करती है। मीडिया सूत्रों की मानें तो 19 नवंबर को बोर्ड की मीटिंग के दौरान सरकार कोई बड़ा फैसला कर सकती है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा, हम चाहते हैं कि गवर्नर हमारी प्राथमिकता स्वीकार करें और बोर्ड मेंबर्स के साथ उसकी चर्चा करें। अधिकारी ने कहा, यदि वह एकतरफा निर्णय लेना चाहते हैं, तो उनके लिए छोड़ना बेहतर होगा।

27 अक्टूबर को रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने चेताया था कि केंद्रीय बैंक की आजादी की उपेक्षा करना घातक हो सकता है। विरल आचार्य ने कहा था कि जो भी सरकार केंद्रीय बैंक की स्वतंत्रता का सम्मान नहीं करती उसे देर-सबेर वित्तीय बाजारों की नाराजगी का सामना करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें: RBI गवर्नर उर्जित पटेल दे सकते हैं इस्तीफा

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार आरबीआई पर डाका डालना चाहती है : मनीष तिवारी

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी