आतंक पर लगाम: कश्‍मीर में बंद होंगे 30 पाकिस्‍तानी और इस्‍लामिक चैनल

Foto

भारत के समाचार

 

श्रीनगर। जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंक पर लगाम कसने की कवायद की जा रही है। राज्‍य सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर में पाकिस्‍तान प्रायोजित आतंक पर शिकंजा कसने के लिए घाटी के केबल ऑपरेटरों से 30 पाकिस्‍तानी और इस्‍लामिक चैनलों को बंद करने का आदेश दिया है। गृह विभाग की ओर से जारी निर्देशों में इन चैनलों को प्रतिबंधित करार दिया गया है। विभाग ने कहा कि ये चैनल शांति और सद्भाव के लिए खतरा हैं।

 

यह भी पढ़ें- ग्रेटर नोएडा में निर्माणाधीन बिल्डिंग गिरी, 3 की मौत,50 लोग मलबे में दबे

 

वहीं गृह विभाग के इस आदेश के बाद केबल ऑपरेटरों का कहना है कि इन चैनलों को बड़ी संख्या में लोग देखते हैं, इसलिए राज्‍य सरकार के फैसले से उन्‍हें नुकसान उठाना पड़ सकता है।

बता दें, इससे पहले सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर सुरक्षा एजेंसियों की छवि बिगाड़ने और आतंकियों के लिए सहानुभूति रखने वाले लोगों पर शिकंजा कसा गया था। पुलिस ने जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में 21 वॉट्सऐप ग्रुप्स के संचालकों के खिलाफ नोटिस जारी किया है।  

 

यह भी पढ़ें- सीबीआई के दामन पर लगा दाग, ऑफिसर पर यौन उत्‍पीड़न का आरोप

 

किश्तवाड़ के वरिष्ठ अधीक्षक अबरार चौधरी ने बताया कि पुलिस ने पिछले तीन महीने में कुछ संदिग्ध वॉट्सऐप ग्रुप्स की पड़ताल करने के बाद इन सभी के संचालकों के खिलाफ कार्रवाई की है। इसके अलावा पुलिस ने वॉट्सऐप समेत अलग-अलग सोशल मीडिया साइट्स पर ऐसे लोगों की पहचान की थी, जिसकी रिपोर्ट किश्तवाड़ के जिला मैजिस्ट्रेट को सौंपी गई।

 

यह भी पढ़ें- काल बना डम्पर, छह बच्चों समेत 8 की मौत

 

रिपोर्ट मिलने के बाद किश्तवाड़ के जिला मैजिस्ट्रेट अंग्रेज सिंह राणा ने 29 जून को एक आदेश जारी कर वॉट्सऐप समूहों के ऐडमिन जैसे सोशल मीडिया समूहों के यूजर्स से 10 दिन के अंदर प्रशासन से अनुमति लेने के निर्देश दिए गए थे, साथ ही ऐसा ना करने पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई थी। यह भी कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर जैसे अशांत क्षेत्रों में वॉट्सऐप कॉलिंग सर्विसेज को ब्लॉक कर सकती है।

जानकारी के मुताबिक आतंकी सीमा पार बैठे अपने आकाओं से वॉट्सऐप कॉलिंग सर्विसेज के जरिए लगातार संपर्क में रहते हैं। अधिकारियों ने बताया कि ऐसे में सरकार जल्द ही इस सेवा को ब्लॉक करने की व्यावहारिकता की जांच करेगी।

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी