सपा प्रतिनिधिमण्डल ने उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वेंकटेश्वर लू को दिया ज्ञापन  

Foto

           National News/भारत के समाचार 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल ने उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी  वेंकटेश्वर लू को ज्ञापन सौंपकर लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के मतदान में सत्तादल के दबाव में निष्पक्ष मतदान में बाधा डालने, वोटरलिस्ट में गड़बड़ी, फर्जी मतदान, बूथ कैप्चरिंग और ईवीएम में खराबी सहित साइकिलवाला बटन दबाने पर वीवीपैट पर कमल फूल के निशान की पर्ची निकलने की शिकायत की। ज्ञापन में वाराणसी और गोरखपुर लोकसभा क्षेत्रों में सपा कार्यकर्ताओं के विरूद्ध पुलिसिया कार्यवाही पर निर्वाचन आयोग द्वारा कोई कार्यवाही न करने की जानकारी देते हुए तत्काल वांछित कार्यवाही का अनुरोध किया गया।
       
समाजवादी प्रतिनिधिमण्डल में आनन्द भदौरिया तथा उदयवीर सिंह ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को सौंपे गए ज्ञापन में कहा है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग को 16 मई 2019 को गोरखपुर-वाराणसी में भाजपा के पक्ष में सपा नेताओं पर प्रशासनिक दबाव डालने की जानकारी देते हुए पत्र दिया था, उस पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। उल्टे गोरखपुर के विधानसभा क्षेत्र के थाना खोराबार के थाना प्रभारी द्वारा 18/19 मई 2019 की रात में समाजवादी पार्टी समर्थक दर्जनभर ग्राम प्रधानों को उनके घरों पर दबिश देकर उठा लिया गया। अनिल पासवान, राकेश पासवान, दिनेश यादव, बृजेश यादव, शिवशंकर, प्रसिद्ध नारायण सिंह आदि को थाने में बंद रखा गया है।
       
ज्ञापन में कहा गया है कि गोरखपुर-वाराणसी लोकसभा क्षेत्रों सहित महाराजगंज, बलिया, कुशीनगर रॉबर्ट्सगंज, चंदौली, मिर्जापुर आदि लोकसभा क्षेत्रों में सुबह से ही सैकड़ों ईवीएम की खराबी के कारण मतदाता बेहद परेशानी में रहे। बहुत से मतदाता लम्बे समय तक इंतजार करने के बाद बिना मतदान के वापस चले गये जो लोकतंत्र के लिए खतरा है। लोकसभा चंदौली में भाजपाइयों ने सपा समर्थकों पर हमला किया। यहां की विधानसभा मुगलसराय की लिस्ट के बूथ नं0 334, 335, 336, पर डिलिटिड कर सैकड़ों अल्पसंख्यक मुस्लिम मतदाताओं को मतदान से वंचित किया गया है। 

चंदौली लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा क्षेत्र सकलडीहा, सैय्यदराजा, मुगलसराय तथा अजगरा के ग्राम तारा-जीवनपुर, नई बस्ती महुअर आदि ग्यारह गांवों में अनुसूचित जन जाति के गरीब लोगों की उंगलियों में जबरन भाजपा के अराजक तत्वों द्वारा स्याही लगा दी गई ताकि मतदान न कर सकें। समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी ने दिनांक 18 मई की सायं 05ः30 बजे ही शिकायत दर्ज कराई किन्तु कोई कार्यवाही नहीं हुई। 
       
समाजवादी पार्टी के नेताओं ने बताया कि राबर्ट्सगंज संसदीय क्षेत्र के विधानसभा क्षेत्रों में पीठीसीन अधिकारियों के पास मतदाता सूचियों में बहुत से मतदाताओं के नाम पर डिलिटेड की मुहर लगी पाई गई। सत्तारूढ़ दल के सदस्यों द्वारा जबरन वोट डलवाने एवं गठबंधन समर्थित मतदाताओं पर डरा-धमकाकर भाजपा प्रत्याशियों के पक्ष में मत देनें का दबाव बनाया जा रहा है। संसदीय क्षेत्र गोरखपुर के विधानसभा क्षेत्र कैम्पियरगंज के बूथ सं0 219 व 220 पीपीगंज पर भाजपा के पूर्व मंत्री फतेह बहादुर सिंह के दर्जनों समर्थकों द्वारा कब्जा करके फर्जी वोटिंग की जा रही है। समाजवादी पार्टी के बूथ एजेण्ट को पीटकर भगा दिया गया है। इस बूथ पर पुनर्मतदान कराने की मांग है।  
           
ज्ञापन में कहा गया है कि कई पोलिंग बूथो पर साइकिल वाला बटन दबाने पर भी वीवीपैट पर कमल फूल के निशान की पर्ची निकल रही है। जैसे वाराणसी लोकसभा क्षेत्र की विधानसभा कैन्ट के बूथ नम्बर 33 पूर्वोत्तर रेलवे जूनियर हाईस्कूल छित्तुपुर पर इस प्रकार की गड़बड़ी मिली है। निर्वाचन अधिकारी से इस सम्बंध में तत्काल कार्यवाही का अनुरोध किया गया है। प्रतिनिधिमंडल ने उक्त सभी मामलों में तत्काल वांछित कार्यवाही का अनुरोध किया है।    

यह भी पढें  भारतीय को एच-1बी वीजा देने से किया इनकार,अमेरिकी सरकार पर हुआ मुकदमा 

यह भी पढें   22 साल की हुईं मानुषी छिल्‍लर, जब 118 देशों की सुंदरियों को दी थी कड़ी टक्कर

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी