जन्मदिन : जब लड़खड़ाई थी कांग्रेस, सोनिया गांधी ने संभाली कमान

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

नई दिल्ली। सोनिया गांधी आज अपना 72वां जन्मदिन माना रही है। इटली के एक गांव में जन्मीं सोनिया गांधी का भारत के सबसे बड़े राजनीतिक घराने की बहू बनने से लेकर देश की सबसे पार्टी कांग्रेस की अध्यक्ष बनने का सफर बेहद उतर-चढ़ाव से भरा रहा। गिरती सेहत के बावजूद सोनिया आज भी ढाल बनकर इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की विरासत को संभाल रहीं हैं। 

सोनिया गांधी के जन्मदिन के मौके पर आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें जो शायद ही आप जानते हो।

यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी पब्लिक स्पीकिंग में बहुत सहज नहीं है। एक कार्यक्रम में उन्होंने यह बात खुद कबूली थी। उन्होंने कहा था, 'पब्लिक स्पीकिंग मेरे लिए बहुत सहज नहीं है। लिहाजा मैं पढ़ने में ज्यादा समय देती हूं।'

बहुत कम लोग इस बात से वाकिफ होंगे कि सोनिया को राजनीति में नहीं ​बल्कि कला में रुचि थी। उन्हें पेंटिंग और कलात्मक चीजों से बहुत लगाव रहता थी। 

यही वजह थी कि शादी के बाद भारत आने पर उन्होंने कला संरक्षण का सिलसिलेवार अध्ययन भी किया। 1984 में जब राजीव गांधी चुनाव प्रचार कर रहे थे उस समय सोनिया कला संरक्षण पर विशेष अध्ययन कर रहीं थीं। लेकिन 1991 में अचानक उनकी जिंदगी में एक तूफान आया और सब कुछ बदल गया।

राजीव गांधी और सोनिया की प्रेम कहानी किसी फिल्म से कम नहीं थी। बताया जाता है कि सोनिया को देखते हुए राजीव उनके प्यार में पड़ गए थे। राजीव ने सोनिया को रेस्टोरेंट में पहली बार देखा था। उन्हें देखते ही राजीव ने एक नैपकिन को लव लैटर बनाया था।

1991 में राजीव गांधी की मौत के बाद उन्हें इस राजवंश के उत्तराधिकारी के तौर में देखा गया। उन्हें कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व की पेशकश भी की गई थी लेकिन सोनिया ने साफ इंकार कर दिया था।

हालांकि कुछ वक्त बाद 1993 में उन्होंने राजीव गांधी के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र उत्तर प्रदेश के अमे​ठी का दौरा किया। इसके बाद राजनीति में उन्होंने अपने कदम आगे बढ़ाए। 1998 में सोनिया गांधी कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष बनने के लिए राजी हुईं।

सोनिया गांधी 1998 से 2017 तक कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं। इसके बाद उनके पुत्र राहुल गांधी ने कांग्रेस की कमान संभाली। 

सोनिया गांधी जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी से भी ज्यादा वक्त तक कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं। अभी तक वह कांग्रेस के इतिहास में सबसे लंबे समय तक रहने वाली अध्यक्ष हैं।

सोनिया गांधी को कई बार ​दुनिया की शक्तिशाली महिलाओं की सूची में शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें: यूपी में हुई हत्या और हिंसा के विरोध में लखनऊ के जीपीओ पर कांग्रेसियों ने किया प्रदर्शन

यह भी पढ़ें: पुडुचेरी: कांग्रेस की चुनौती को 'सुप्रीम' झटका, किरण बेदी का निर्णय बरकरार


 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी