सुप्रीम कोर्ट का चला डंडा, पटाखा फोड़ने पर पहली बार दर्ज हुई एफआईआर 

Foto

 

भारत के समाचार/National News

 

नई दिल्ली। दिल्ली में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण पर रोक लगाने में सरकार नाकाम है। जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार करते हुए दीवाली त्योहार पर रात 8 बजे से 10 बजे तक ही पटाखा फोड़ने की अनुमति दी है। इसके बावजूद भी यहां कोर्ट की अवमानना करते हुए पटाखा एक परिवार ने फोड़ दिया। पटाखे फोड़ने पर पुलिस ने एक्शन लेते हुए आरोपी परिवार के खिलाफ ​केस दर्ज कर लिया है।

 

 

ये है मामला

 

खबरों के मुताबिक पूर्वी दिल्ली स्थित मयूर विहार फेज थ्री में एक परिवार के खिलाफ पुलिस ने पटाखा फोड़ने पर एफआईआद दर्ज किया है। पड़ोसी ने परिवार के द्वारा पटाखा फोड़े जाने का विरोध किया था। लेकिन विरोध के बावजूद परिवार नहीं माना और पटाखे फोड़े। पटाखा फोड़ने से नाराज पड़ोसी ने मामले की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई है। दमनदीप गत देर रात करीब 8 30 बजे अपने कार्यालय से घर वापस लौटे। इसके बाद उन्होंने पटाखा फोड़ना शुरू कर दिया। जब पड़ोसी दीनबंधू ने मना किया तो वह नहीं माने उल्टे घर पर ही दरवाजे के सामने पटाखा फोड़ने लगे। इस पर दीनबंधू ने पुलिस को सूचना देकर बुला लिया और शिकायत दर्ज करवाई।

 

 

कोर्ट ने लगाई है रोक

 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने दीवाली त्योहार के मद्देनजर प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए पटाखा फोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है। हालांकि, त्योहार के दिन दो घंटे रात 8 बजे से 10 बजे तक पटाखा फोड़ने की अनुमति दी है। कोर्ट ने कहा है कि केवल ग्रीन पटाखे ही जलाए जाएंगे। पटाखों की बिक्री ई-कॉमर्स कंपनियां ऑनलाइन हीं कर सकेंगी। जिन दुकानों के पास लाइसेंस होगा वही पटाखा बेच सकेगा।

 

यह भी पढ़ें...तेज प्रताप हैं कृष्ण पर राधा नहीं बन पाई ऐश्वर्या राय!

 

यह भी पढ़ें...नगर निगम का चार्ज लेते ही जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों की ली क्लास

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी