"ताज में नमाज विवाद" में कूदे बजरंगी, करेंगे पूजा—पाठ

Foto

राज्यों की खबरें/State News


नई दिल्ली। बजरंग दल ने ताजमहल में पूजा करने का ऐलान करके विवाद खड़ा कर दिया है। बताते चलें ​कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने ताज महल में नमाज अदा करने को बैन कर दिया था। लेकिन आदेशों को ठेंगे पर रखते हुए ताजमहल इंतजामिया कमेटी (टीएमआईसी) के सदस्यों ने मंगलवार को नमाज पढ़ी। अब एएसआई के खिलाफ जाकर नमाज अदा करने के विरोध में बजरंग दल कूद पड़ा है। 

 

 

कोर्ट ने भी दिया था आदेश

 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 19 जुलाई 2018 को आदेश दिया था कि शुक्रवार के दिन ही स्थानीय लोग ताजमहल में नमाज अदा करेंगे। लेकिन एएसआई और कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करते हुए कुछ लोगों ने ताजमहल में मंगलवार को नमाज अदा की। जबकि शुक्रवार को एक घंटे के लिए नमाज अदा करने को लेकर गेट खोला जाता है। इसका विरोध करते हुए बजरंग दल ने कहा है कि वह भी ताजमहल में पूजा पाठ करेंगे।

 

 

वायरल हो रहा वीडियो

 

बताते चलें कि 'वजू टैंक' (जहां नमाज पढ़ने से पहले नमाजी अपना शरीर साफ करते हैं) हर दिन की तरह ताला लटकता रहा। नमाजियों ने नमाज पढ़ने से पहले पीने के पानी से स्वयं को साफ किया। पुरातत्व विभाग के अफसरों ने नमाजियों को रोकने की कोशिश की। लेकिन वह नहीं माने। ताजमहल में नमाज और पूजा को लेकर जो विवाद बढ़ा है, उसका कारण एक वायरल वीडियो को बताया जा रहा है। बजरंग दल के गोविंद परासन ने कहा है कि जब ताजमहल में पूजा पाठ करने की इजाजत मांगी गई थी तो साफ इंकार कर दिया गया था। रोक के बावजूद लोग कैसे नमाज अदा कर रहे हैं। अब वह भी यहां पूजा करेंगे।

 

 


यह भी पढ़ें...गूगल ने बच्चों के लिए बनाया खास डूडल, इस अंदज में दी बधाई

 

यह भी पढ़ें...सिंगापुर : फिनटेक फेस्टिवल में पीएम मोदी, तकनीक के क्षेत्र में भारत ने लगाई लंबी छलांग

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी