CBI की मेहनत रंग लाई, भगोड़े माल्या को वापस लाने का रास्ता साफ

Foto

National News / राष्ट्रीय समाचार

लंदन। ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जावीद नेशराब कारोबारी विजय माल्या को करारा झटका देते हुए उसे भारत प्रत्यर्पित करने का आदेश दिया। माल्या (63) दिसंबर में ब्रिटेन की एक अदालत में अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ कानूनी चुनौती हार चुका था।

भगोड़ा कारोबारी विजय माल्या के प्रत्यर्पण के आदेश पर ब्रिटेन के गृह मंत्री ने दस्तखत कर दिए हैं।  भारतीय विदेश मंत्रालय ने फ़ैसले का स्वागत करते हुए कानूनी प्रक्रिया के जल्द पूरा होने की उम्मीद जतायी है।

प्रत्यर्पण संधि की प्रक्रियाओं के तहत चीफ मजिस्ट्रेट का फैसला गृह मंत्री को भेजा गया था, क्योंकि सिर्फ गृह मंत्री ही माल्या के प्रत्यर्पण का आदेश देने के लिए अधिकृत हैं।

अप्रैल 2017 में स्कॉटलैंड यार्ड की ओर से तामील कराए गए प्रत्यर्पण वॉरंट पर माल्या जमानत पर है। यह वॉरंट उस वक्त तामील कराया गया था जब भारतीय अधिकारियों ने किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व प्रमुख माल्या को 9,000 करोड़ रुपए की रकम की धोखाधड़ी और धनशोधन के मामले में आरोपित किया था।

ब्रिटेन की अदालत ने कहा था कि वह भारत सरकार की ओर से दिए गए विभिन्न आश्वासनों से संतुष्ट है, जिसमें जेल की एक सेल का वीडियो भी शामिल है।

इससे पहले जनवरी 2019 में जांच एजेंसियों को बड़ी जीत हासिल हुई थी। मुंबई की एक अदालत ने फरार चल रहे शराब कारोबारी विजय माल्य को भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून 2018 के तहत भगोड़ा करार दिया था। 

यह भी पढ़ें: सीबीआई दफ्तर घेरने जा रहे टीएमसी कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प

यह भी पढ़ें: बाराबंकी में तीन दिनों से कौतूहल बनी डॉल्फिन, टीम ने सुरक्षित पकड़ा

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी