मंदसौर रेप कांड पर भाजपा नेताओं की ठिठोली, पीड़िता के पिता से बोले सांसद जी आए हैं थैंक यू तो बोल दो..

Foto

भारत के समाचार/ India News

 

मंदसौर में पीड़ित परिवार से मिलने पंहुचे बीजेपी सांसद व विधायक भूले मानवीयता

रेप व दरिन्दगी के बाद जिन्दगी और मौत से संघर्ष कर रही है मासूम

नई दिल्ली। मंदसौर में जहां सात साल की मासूम के साथ दरिन्दगी से पूरे देश में गुस्सा है वहीं देश के कर्ता—धर्ता बनने वाले पीड़िता के परिवार से कह रहे हैं कि हम आप से मिलने आये है इसलिए हमें थैंक यू तो बोलो। मानवीयता भूल चुके इन नेताओं को ना तो जिन्दगी और मौत से संघर्ष कर रही बच्ची दिख रही है और ना ही उसकी इस हालत पर पल पल मर रहे उसके परिजन,भला ऐसे लोगों से क्या उम्मीद की जाये वो पीड़ित परिवार को न्याय दिलायेंगे।

मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की बच्ची से हुए गैंगरेप पर पूरे देश में गुस्सा है,लोग सड़क पर हैं और आरोपी को फांसी दिये जाने की मांग कर रहे हैं लेकिन नेता असंवेदनशीलता की हद पार कर रहे हैं, पीड़िता जहां जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है, वहीं नेता पीड़िता और उसके परिवार से मिलकर अपने नंबर बढ़ाने में लगे हैं।

29 जून को इंदौर के भाजपा विधायक सुदर्शन गुप्ता और मंदसौर-नीमच से भाजपा सांसद सुधीर गुप्ता अस्पताल में भर्ती पीड़िता को देखने पहुंचे। वहां पर पीड़िता के परिवार से मुलाकात करने के बाद विधायक सुदर्शन गुप्ता ने पीड़िता के परिवार से कहा- सांसद जी का थैंक्यू करिए कि वो स्पेशल आप लोगों से मिलने आए हैं,और कोई परेशानी हो तो बता देना।

मंदसौर पुलिस ने शुक्रवार को रेप और प्रताड़ना के इस जघन्य मामले में दूसरे संदिग्ध को गिरफ्तार किया। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए दोनों आरोपियों ने काफी पहले वारदात की साजिश रची थी। पुलिस के मुताबिक कई दिनों तक दोनों ने स्कूली बच्चों की रेकी की और इसके बाद एक छोटी बच्ची को चुना,जो प्रतिरोध न कर सके। 

मंदसौर में 26 जून को स्कूल के बाहर से सात साल की बच्ची का अपहरण कर रेप करने का मामला सामने आया था। रेप पीड़ित बच्ची इंदौर के अस्पताल में भर्ती है,उसकी हालत अब भी गंभीर बनी हुई है डॉक्टर के मुताबिक बच्ची के साथ रेप के बाद और दरिंदगी की गई उसके प्राईवेट पार्ट में लकड़ी या ऐसा कुछ डाला गया,जिसकी वजह से उसकी आंते फट गई हैं बच्ची की हालत अभी भी गंभीर है।

पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने रेप के दौरान इस्तेमाल की गई नुकीली चीजों को इकट्ठा कराने में थोड़ा वक्त लगाया। यही नहीं आरोपियों ने बच्ची के गले पर धारदार हथियार से हमला करने के बाद उसे लहूलुहान हालत में छोड़ते हुए शराब भी पी थी। 

सुदर्शन गुप्ता मध्य प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष भी हैं उनका यह बयान रेप जैसे संवेदनशील मामले में आना बहुत ही शर्मनाक है वो भी तब जब मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह इसके आरोपियों को दरिंदा बता रहे हों। मामले की तेज सुनवाई और आरोपियों को फांसी दिलवाने की बात कर रहे हों सुदर्शन पहले भी अपने बयानों के चलते विवादों में रहे हैं पिछले दिनों उन्होंने बिजली विभाग के इंजीनियर को जूते मारने की बात कही थी।
 

leave a reply

भारत के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी