कोहरे में सावधानी हटी दुर्घटना घटी

Foto

Lifestyle / जीवन शैली

नई दिल्ली। सर्दी का कहर बढ़ गया है और पूरा शहर कोहरे की सफेद चादर में लिपटा हुआ है। घने कोहरे के कारण कुछ दूर देख पाना भी मुश्किल है। कोहरे के कारण होने वाले हादसों की संख्या भी बढ़ गई है। खासकर हाईवे पर बड़ी संख्या में हादसे होने लगे है। ऐसे में कोहरे में गाड़ी चलते समय इन बातों का ध्यान रखें तो बड़े हादसों को होने से रोका जा सकता है। 

 

फॉग लाइट का करें प्रयोग-

 

कोहरे में गाड़ी चलाते समय फॉग लाइट का प्रयोग अवश्य करें। इस वातावरण में पीले रंग की रोशनी की फॉग लाइट रास्ता दिखाने में उपयोगी होती है।

 

वाहन 20-30 किमी की रफ्तार से चलाए-

 

कोहरे के कारण विसिबिलिटी कम हो जाती है। ऐसे में तेज गाड़ी चलाना खतरे से खाली नहीं है। गाड़ी की रफ्तार 20-30 तक ही रखना बचाव है।

 

हेलमेट और सीटबेल्ट का करें प्रयोग-

 

दोपहिया चलाते समय हेलमेट और चार पहिया चलाते समय सीटबेल्ट का प्रयोग अवश्य करें। सुरक्षा में ही बचाव है।

 

इंडीकेटर का करें प्रयोग-

 

हाईवे पर सड़क किनारे वाहन खड़ा करते समय आगे और पीछे के इंडीकेटर जला कर रखें। इससे पीछे से आने वाले वाहनों को सुविधा होगी।

 

वाइपर का करें प्रयोग-

 

इस मौसम में कार चलाते समय विंडस्क्रीन, विंडो स्क्रीन और रीयर स्क्रीन पर फॅागिंग की समस्या हो जाती है। साथ ही हेलमेट लगाए दोपहिया चालकों का भी इस समस्या से दो-चार होना पड़ता है। ऐसे में गाड़ी चलाते समय वाइपर से थोड़ी-थोड़ी देर में शीशा साफ करते रहें।

 

लो बीम लाइट का करें प्रयोग-

 

गाड़ी चलाते वक्त वाहनों में लो-बीम लाइट का प्रयोग करें, ताकि सामने से आने वाले वाहन को परेशानी न हो। हाई बीम के कारण कोहरे में लाइट फैल जाती है। ऐसे में सामने से आने वाली गाड़ी को दिखने में परेशानी हो सकती है।

 

ट्रैफिक नियमों का पालन करें-

 

गाड़ी चलाते समय ट्रैफिक नियमों का पालन अवश्य करें। इससे आप अपनी जान की रक्षा तो करते ही है साथ ही दूसरों की जान की भी सुरक्षा करते है।

 

यह भी पढ़ें: पहली बार पार्टनर को बोलना है 'आई लव यू', तो जाने तरीका

यह भी पढ़ें: ऐसे जाने धोखा देने वाले पुरुष के बारे में...

leave a reply

लाइफस्टाइल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी