इस शुभ मुहूर्त में मनाया जाएगा रक्षाबंधन का त्यौहार...

Foto

 

लाइफस्टाइल  

 

लखनऊ। रक्षाबंधन का शुभ पर्व हर भाई  बहन के लिए बेहद खास होता है, इस साल यह पर्व 26 अगस्त 2018 दिन रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन हर बहन अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती है। और उससे सुरक्षा का वचन लेती है। बहन भाई के माथे पे तिलक लगा कर उसके लम्बी आयु  होने की कामना करती है। कहते हैं इस धागे का संबंध अटूट होता है। जब तक जीवन की डोर रहती  है एक भाई अपनी बहन के लिए और उसकी सुरक्षा तथा खुशी के लिए दृढ़ संकल्प रहता है।

 

 यह भी पढ़े: Friendship Day: जिन्दगी लम्बी है दोस्त बनाते रहो, दिल मिले न मिले हाथ मिलते रहो

 

Related image


राखी बांधने का शुभ मुहूर्त  

वैसे तो भाई की कलाई पर राखी बांधने का कोई भी वक्त अशुभ नहीं माना जाता है , परन्तु भाई की दीर्घायु और खुशियों की कामना एक शुभ मुहूर्त में की जाए तो सारे कष्ट दूर होते हैं। ज्योतिषाचार्य के मुताबिक, इस साल 26 अगस्त को सुबह 05.59 से सायंकाल 17.25 तक राखी बांधने का मुहूर्त शुभ है।


 
 यह भी पढ़े:  नहीं होगी ऑफिस में टेंशन

 

Related image


ऐसे तैयार पूजा की थाली और बांधे राखी  

रक्षा बंधन के दिन बहनें प्रातः काल उठकर नए वस्त्र धारण कर राखी की थाली तैयार करती हैं। उस थाल में राखी, कुमकुम, हल्दी, अक्षत और मिष्ठान रहता है। प्रथमतः भाई को तिलक कर उसकी आरती करती है। उसके ऊपर अक्षत फेकती है। अब राखी भाई के दाहिनी कलाई पर बांधी जाती है। इस पूरी प्रक्रिया तक भाई और बहन दोनों को उपवास रखना चाहिए।

 

यह भी पढ़े: इस दिशा में कभी न लगाएं घड़ी वरना चुकानी पड़ सकती है बड़ी कीमत...

 

बहुत से लोग कहते हैं कि केवल बहनें ही व्रत रहें ऐसा नहीं है भाई भी व्रत रहेगा।तत्पश्चात बहन भाई को मिठाई खिलाती है। बहन यदि छोटी है तो भाई का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लेगी और यदि बहन बड़ी है। तो भाई उसका पैर छूकर आशीर्वाद लेगा। इस प्रकार भाई आजीवन अपनी बहन की सुरक्षा के लिए संकल्प करता है।  

 

यह भी पढ़े: बेकार पड़ी चीजों से घर को बनाए खुबसूरत

 

 Related image
 
कौन सा समय है अशुभ    

भद्राकाल  में राखी नहीं बांधी चाहिए  इस वर्ष राखी की सबसे खास बात ये है कि भद्राकाल का समय सूर्य के उदय होने से पहले ही समाप्त हो जाएगा। 

 

leave a reply

लाइफस्टाइल

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी