PM Kusum Yojana 2022: प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एक नई योजना

PM Kusum Yojana 2022: प्रधानमंत्री मोदी द्वारा एक नई योजना (PM Kusum Yojana) का शुभारंभ किया गया है। PM Kusum Yojana 2022 (प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022) जिसके माध्यम से किसानों को सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप प्रदान किए जाएंगे।

इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) को सरकार ने 2022 तक बढ़ा दिया है, जिसके अंतर्गत 30.8 गीगावॉट की क्षमता प्राप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। प्रधानमंत्री कुसुम योजना (PM Kusum Yojana 2022) के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 34,035 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

सरकार किसानों के लिए कई ऐसी योजना लाती रहती है, जिससे उन्हें मदद मिल सके। इसमें से एक पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana) भी है। इसके अंतर्गत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल की सुविधा दी गयी है। इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) के अंतर्गत सोलर पंप लगाने में आने वाले खर्चे की कुल लागत का 90 प्रतिशत व्यय सरकार द्वारा वहन की जाएगी। शेष 10 प्रतिशत लागत का भुगतान स्वयं किसानों द्वारा किया जाएगा।

15000 पंप स्थापित करने का था लक्ष्य

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग एवं हरेडा के महानिदेशक डॉ. हनीफ कुरैशी ने योजना (PM Kusum Yojana 2022) की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि केन्द्रीय नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने वर्ष 2019 में 20 लाख स्टैंडअलोन सोलर पंप स्थापित करने के लक्ष्य के साथ पीएमकेयूएसयूएम योजना शुरू की थी, जिसके तहत हरियाणा को वर्ष 2020-21 के लिए 520 करोड़ रुपये की कुल लागत के साथ 15,000 पंप स्थापित करने का लक्ष्य दिया गया था।

अनुपयोगी जमीन पर लगेगा प्लांट

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (पीएम कुसुम योजना 2022) तीन कंपोनेंट में संचालित हो रहा है। इसमें एक कंपोनेंट में राजस्थान बिजली वितरण निगमों के 33/11 केवी सब स्टेशन के 5 किलोमीटर दायरे में किसानों की बंजर व अनुपयोगी भूमि पर आधा किलोवाट से लेकर 2 मेगावाट क्षमता के सोलर एनर्जी प्लांट (Solar Energy Plant) की स्थापना कर सकते हैं।

3.14 रुपये प्रति यूनिट के रेट पर बिकेगी बिजली

इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) के तहत सोलर सयंत्रों पर उत्पादित बिजली की 3 रुपए 14 पैसे की दर पर 25 साल तक खरीद की जाएगी। सोलर ऊर्जा उत्पादनकर्ता किसान की बिजली 25 साल तक खरीद की व्यवस्था भी सुनिश्चित हो गई है। व्यवस्था के तहत लोन की किस्त डिस्काम्स द्वारा सीधे बैंकों में काश्तकारों के खातों में जमा हो सकेगी। शेष रकम काश्तकार के खाते में जमा हो जाएगी।

मिलती है 75 फीसदी सब्सिडी कुसुम योजना (PM Kusum Yojana 2022) के तहत

इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) के तहत राज्य में 75 प्रतिशत सब्सिडी के साथ 3 एचपी से 10 एचपी क्षमता के स्टैंडअलोन सोलर पंप स्थापित किए जा रहे हैं।

इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) के तहत भारत सरकार 30 प्रतिशत केंद्रीय वित्तीय सहायता और राज्य सरकार 45 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान कर रही है।

किसानों को कुल पंप लागत का केवल 25 प्रतिशत भुगतान करना होता है। उन्होंने कहा कि इन पंपों को किसान/जल प्रयोक्ता संघ/समुदाय/क्लस्टर आधारित सिंचाई प्रणाली आदि द्वारा केवल सिंचाई के उद्देश्य से स्थापित किया जा सकता है।

पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana 2022) से कैसे कमाएं 80 हज़ार रुपये 

प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाभियान (Prime Minister’s Farmer Energy Security and Upliftment Maha Abhiyan) भारत के पूर्व वित्त मंत्री द्वारा शुरू किया गया है। वर्तमान केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 22 के केंद्रीय बजट में एक बड़ी राशि निर्धारित की है। इसके साथ ही अब तक 3 करोड़ Solar Pump वितरित किए जा चुके हैं। खास बात यह है कि किसान इस योजना (Pradhan Mantri Kusum Yojana 2022) के तहत सालाना 80,000 रुपये कमा सकते हैं।

पीएम कुसुम योजना 2022 (PM Kusum Yojana 2022) की विशेषताएं 

  • पीएम कुसुम (PM Kusum Yojana 2022) फेज 2 हाल ही में शुरू किया गया है।
  • किसानों को 3 करोड़ सोलर पंप पहले ही आवंटित किए जा चुके हैं।
  • पहली वेबसाइट को बंद कर दिया गया है। नया वेब पोर्टल तैयार किया गया है।
  • आवेदकों को उन सभी फर्जी वेबसाइटों से भी सावधान रहने की जरूरत है जो पीएम कुसुम सोलर पंप इंस्टॉलेशन और अन्य के नाम पर हैं।

पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana 2022) के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बैंक के खाते का विवरण।
  • आधार कार्ड (Aadhaar Card)
  • घोषणापत्र।
  • बैंक खाता पासबुक।
  • इन सभी दस्तावेजों को आवेदक के पास मूल रूप से होना चाहिए।

पीएम कुसुम योजना 2022 के लाभार्थी कौन?

  • किसान
  • सहकारी समितियां
  • पंचायत
  • किसानों का समूह
  • किसान उत्पादक संगठन
  • जल उपभोक्ता एसोसिएशन

सोलर प्लांट लगाने के कितने आवेदन

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि अभी तक इस पीएम कुसुम योजना (PM Kusum Yojana 2022) के तहत प्रदेश में 11 प्लांट स्थापित हो चुके हैं।

अक्षय ऊर्जा निगम के पास 722 मेगावाट क्षमता स्थापना के 623 अप्लीकेशन आए हैं। केनरा बैंक के डीजीएम अरुण कुमार आर्य ने विश्वास दिलाया है कि सोलर प्लांट के लिए बैंक द्वारा बिना कोलेटरल सिक्योरिटी के लोन वितरित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) में लोन की ब्याज दर (Rate of interest) को भी कम करने के प्रयास किए जाएंगे।

इस योजना (PM Kusum Yojana 2022) के लिए कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

  • Kusum Yojana 2022 (पीएम कुसुम योजना 2022) आवेदन करने के लिए आपको वेब पोर्टल gov.in पर जाना होगा।
  • फिर होम पेज पर आपको योजना (PM Kusum Yojana 2022) आवेदन पत्र लिंक दिखाई देगा।
  • उस पर क्लिक करें और यह अगले टैब में खुल जाएगा।
  • दस्तावेज़ों को अपलोड करके फॉर्म को सही ढंग से भरने का प्रयास करें।
  • सबमिट करने से पहले फॉर्म की समीक्षा करें।
  • अंतिम चरण में फॉर्म जमा करें।