भविष्यवाणी से BJP में भूचाल, अखिलेश-मायावती रचेंगे इतिहास, मिलेंगी इतनी सीटें

Foto

Political News/राजनीति के समाचार 

लोकसभा चुनाव 2019 के एक दिन पहले एग्जिट पोल के आंकड़ों को ज्योतिषाचार्यों ने चुनौती दे दी है। जहां पोल में गठबंधन को 30 से 45 सीटें मिलने की बात कही गई है। वहीं, ज्योतिषाचार्यों ने कहा है कि अखिलेश और मायावती इस बार यूपी में लोकसभा सीटों को लेकर कुछ नया कर सकते हैं। गठबंधन को करीब 60 सीटें तक मिलेंगी। कि यदि ऐसा हुआ तो इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि बीजेपी को वापसी के लिए एड़ी चोटी एक करना पड़ जाए। 

ज्योतिषाचार्यों के भविष्यवाणी की माने तो बीजेपी का पत्ता यूपी से साफ हो रहा है। चूंकि दो सीट हर जगह कांग्रेस को मिलता दिखाया ही गया है। ऐसे में बीजेपी के खाते में महज 20 सीटें भी नहीं आ रही है। हालांकि, इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि एग्जिट पोलों में जिस तरह से आंकड़े दिए गए हैं, उससे सभी सशंकित हैं। किसी ने बीजेपी को 360 सीटें तक मिलने का आंकड़ा दे दिया है। तो किसी ने 277 तक ही सिमटा दिया है। फिलहाल अब 23 मई का ही इंतजार सभी को है। जिस तरह से आंकड़ों का दौर चल रहा है किसी को भी यकीन नहीं हो रहा कि यह सही हो सकता है। 

बताते चलें कि चुनाव के संभावित परिणाम जो एग्जिट पोल पर दिए जा रहे उसके ठीक विपरीत ज्योतिषाचर्य ने भविष्यवाणी की है। ज्योतिषाचार्य पं. ऋषि द्विवेदी पीएम मोदी के सांसदीय क्षेत्र वाराणसी के रहने वाले ही हैं। उन्होंने खंडित जनादेश की बात कही है। ज्योतिषाचार्य का कहना है कि गुरु के घर में केतु और शनि के त्रिकोण के कारण बीजेपी भले ही सबसे बड़े दल के रूप में सामने आएगा। लेकिन बहुमत पाना बीजेपी के लिए आसान नहीं होगा। सूर्य और बुध की युति कई दलों को सत्ता के शीर्ष पर पहुंचने के लिए पाला बदलने के संकेत भी मिल रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव महिला शक्ति के प्राकट्य की नई इबारत लिखेगा।  भी लिखने जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि आकाश मंडल में धनु राशि पर बृहस्पति, शनि और केतु का त्रिकोण बनता दिखाई दे रहा है। चुनाव परिणाम सामने आने के बाद  सरकार के गठन का प्रभाव आने वाले समय में दिखाई देगा। यदि किसी पार्टी की सरकार बन भी जाती है, तो अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर सकेगा। ज्योतिषाचार्य की माने तो एनडीए 220 से 240 सीटें लाएगी। जिसमें बीजेपी को अकेले 140-160 सीटें मिलेंगी। वहीं, यूपीए को 110-140 और यूपी में 10 सीटें त​क मिल सकती है। गठबंधन को लेकर कहा कि 50 से 60 सीटें गठबंधन को मिलेगी। अन्य राजनीतिक दलों की बात करें तो 60-100 के बीच सीटें रहने का अनुमान है। 

ज्योतिषाचार्य पं. दीपक मालवीय के मुताबिक शनि तथा गुरु के भारत की कुंडली में अष्टम स्थान तथा धनु राशि में विराजमान रहने से उथल-पुथल भी हो सकता है। पीएम मोदी की कुंडली में राहु-केतु अष्टम तो है ही साथ में द्वितीय भाव में गोचर भी कर रहे हैं। दशा-अंतर्दशा चंद्र-केतु का बनने के कारण पीएम मोदी को समझौता करना पड़ सकता है। पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, मेघालय, मिजोरम, आंध्र प्रदेश और केरल में राज्य स्तरीय पार्टियों का ही वर्चस्व रहेगा। उन्होंने उत्तर-पूर्व में बीजेपी को बड़ी सफलता मिलना तय बताया है।

बीएचयू के ज्योतिषाचार्य पं. गणेश प्रसाद मिश्रा का कहना है कि तीन ग्रहों की युतियां खंडित जनादेश की तरफ इशारा कर रही हैं। शुक्ल योग में परिणाम आने से सार्वजनिक हित के कार्य किए जाएंगे। इस बार के लोकसभा चुनाव में पुराने कई चेहरे गायब ही हो जाएंगे। ज्योतिषाचार्य द्विवेदी के की माने तो मोदी की कुंडली में चंद्रमा की महादशा का योग इस समय पर चल रहा है। बुध के अंतर में केतु का प्रत्यंतर सितंबर 2019 तक है। भाजपा की कुंडली में चंद्रमा मारकेश है। यही वजह है कि अक्तूबर 2018 से ही बजेपी का वर्चस्व भी घट रहा है। सीएम ममता का जादू बना रहेगा।

यह भी पढें:बीजेपी और एनडीए के रात्रिभोज कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी, नीतीश और उद्धव...

यह भी पढें:विपक्ष के दावों को आयोग ने किया खारिज, सुरक्षित हैं सभी ईवीएम, चुनाव आयोग


 

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी