चुनाव आयोग का चला डंडा, आजम और मेनका के प्रचार पर रोक

Foto

Political News/राजनीति के समाचार 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव को लेकर प्रथम चरण का मतदान हो चुका है। अब दूसरे चरण के मतदान को लेकर सियासी घामसान तेज हो गया है। नेता विरोधी पाटियों पर जमकर विवादित बयान जारी कर रहे हैं। विवादित बयानों के कारण आचार संहिता उल्लंघन करने के मामले में चुनाव आयोग का हंटर समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आजम खान और कैबिनेट मंत्री मेनका गांधी पर चला है। आयोग दोनों के ही चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। बताते चलें कि आयोग ने आजम पर तीन दिन और मेनका को दो दिनों तक प्रचार करने की रोक लगा दी है। 

आयोग ने मेनका पर सांप्रदायिक टिप्पणी करने के मामले में और आजम पर जयप्रदा पर विवादित टिप्पणी करने पर एक्शन लिया है। आजम रामपुर से और मेनका सुल्तानपुर से चुनावी मैदान में हैं। मेनका ने कहा था कि जितना प्रतिशत वोट जहां से अधिक होगा वहां उस प्रतिशत के हिसाब से विकास कार्य होगा। आरोप है कि उन्होंने अपने बयानों में मुस्लिमों को साधने की कोशिश की थी। यही नहीं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी आयोग ने विवादित बयानों के कारण चुनाव प्रचार पर रोक लगाई है। सीएम योगी पर 72 घंटे और मायावती को 48 घंटे तक चुनाव प्रचार करना पाबंद कर दिया है। 

हैरान करने वाली बात ये है कि नेताओं की राजनीति इतनी गिर चुकी है, कुछ भी बयान जारी कर दे रहे हैं। नेताओं की बयानबाजी का ये सिलसिला प्रथम चरण चुनाव के दौरान से ही शुरू हो चुका है। हालांकि, आयोग ने विवादित बयानों के कारण नोटिस तो नेताओं को भेजे थे। लेकिन जवाब दाखिल करने के अलावा कोई कार्रवाई नहीं की थी। सुप्रीम कार्ट की फटकार के बाद आयोग होश में आया और नेताओं पर एक्शन लिया। 

यह भी पढ़ें: बदजुबानी पर चुनाव आयोग का एक्शन, किस नेता पर है कितने घटें की रोक, जाने !

यह भी पढ़ें: चुनाव अयोग का चला डंडा, CM योगी पहुंचे हनुमान जी की शरण में

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी