उपमुख्यमंत्री का सपा-बसपा और कांग्रेस पर हमला, कर रहे धर्म की राजनीति

Foto

 राजनीति के समाचार/Politics News 
 


लखनऊ। उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने सपा बसपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। शर्मा ने कहा कि पहले अंग्रेजों ने बांटो और राज करो की नीति पर कार्य किया। अब सत्ता से बेदखल हो चुके सपा, बसपा और कांग्रेस जैसे दल समाज को जाति, धर्म में बांटकर फिर से सत्ता में काबिज होने की कोशिश कर रहे है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने समाज की विषमता को दूर करने के लिए कार्य किया है। मोदी-योगी के नेतृत्व में भाजपा सरकार सबका साथ-सबका विकास की नीति पर काम करते हुए आमजन के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध होकर काम कर रही है। डा. शर्मा विश्वरैवया सभागार में भाजपा अनुसूचित मोर्चा की प्रदेश ईकाई द्वारा आयोजित सामाजिक प्रतिनिधि बैठक को संबोधित कर रहे थे। 

 


सभी महापुरुषों को सम्मान


उन्होंने कहा कि भाजपा ही एक मात्र राजनीतिक दल है, जो बाबा साहेब, संत गाडगे के सिद्धांतो और विचारों का सम्मान करते हुए अगड़ा-पिछड़ा-ऊँचा-नीचा के भेदभाव को समाप्त कर समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा बाबा साहब भीमराव आम्बेडकर ने कहा था कि समाज का स्वर्णिम युग तब आयेगा जब देश के सर्वोच्च पदों पर दलित पिछड़े वर्ग के लोग बैठेगे। आज देश के सर्वोच्च पद पर अति दलित समाज के व्यक्ति और प्रधानमंत्री पद पर अति पिछड़ी जाति का व्यक्ति बैठकर पूरे देश के आमजन के कल्याण के लिए दिन-रात कार्य कर रहे है।

 


कांग्रेस सपा में परिवारवाद


डा. शर्मा ने उपस्थित प्रतिनिधियों का आहवान करते हुए कहा कि वे अपने समाज को जागरूक करने में जुट जाये। उन्होंने सपा, बसपा और कांग्रेस पर अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा कि कुछ लोग वोट बैंक की सियासत और सत्ता की लालच में समाज में बिखराव पैदा करने के लिए फिर से सक्रिय हो गये हैं। उन्होंने कहा कांग्रेस पर एक ही परिवार का वर्चस्व रहा तभी तो जगजीवन राम सहित तमाम कई अन्य सम्मानित व योग्य लोगों को कांग्रेस ने उचित सम्मान व स्थान नहीं दिया। सपा-बसपा भी कांग्रेस का दूसरा स्वरूप है जहां परिवारवाद और भ्रष्टाचार का बोलबाला है।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में सिद्धू का निशाना, पीएम मोदी 'उद्योगपतियों के हाथों की कठपुतली'

यह भी पढ़ें: राजस्थान में मोदी का प्रहार, 'नीचे गिरती जा रही कांग्रेस'

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी