गठबंधन व रालोद के बीच फंस सकती है सीटो की रार

Foto

राजनीति के समाचार/political news

पांच सीटो की मांग कर रहा है रालोद

लखनऊ। देश की सियासत में खलबली मचाने वाले यूपी के दो बड़े दलों के बीच गठबंधन की इबारत लिख ली गयी है और इसका औपचारिक ऐलान भी शनिवार को होने वाली संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस मे हो जायेगा पर इस गठबंधन के एक दल के नेता को इसके लिए कोई न्यौता नही भेजा गया है।

जी हां यूपी के उपचुनाव में सपा के साथ मिलकर बाजी मारने वाले रालोद के नेता जयंत चौधरी को कल होने वाली प्रेस कांफ्रेंस के लिए नही बुलाया गया है। वहीं सूत्रों का ये भी कहना है कि सपा और रालोद के बीच में अभी सीट को लेकर कुछ विवाद बना हुआ है।

गौरतलब है कि यूपी में गैर कांग्रेसी इस गठबंधन में सपा बसपा ने रालोद भी शामिल करने की बात शुरुआत से कही है और जो इशारे हैं वह बताते हैं कि दोनो दल रालोद को तीन सीटे देने के मूड मे है पर चर्चा ये भी है कि रालोद के द्वारा गठबंधन में पांच सीटों की मापंग की जा रही है जिससे समीकरण गड़बड़ा भी सकते हैं।

फिल्हाल सभी की निगाहें शानिवार को होने वाली अखिलेश और मायावती की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस पर टिकी हैं। बता दें कि प्रेस कांफ्रेंस के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती शुक्रवार को ही राजधानी पंहुच गयीं वहीं रालोद नेता जयंत चौधरी भी राजधानी मे डेरा डाले हुए हैं। जानकारों का कहना है कि कल होने वाली प्रेस कांफ्रेंस के बाद जयंत चौधरी मायावती व अखिलेश से मुलाकात कर सकते हैं जिसमे सीटों को लेकर चर्चा होने की संभावना है। ।

सूत्रों के अनुसार, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के इस महागठबंधन में रालोद को दो से तीन लोकसभा सीटे देने पर विचार किया जा सकता है। मंगलवार को रालोद के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से उनके कार्यालय में मुलाकात भी की थी।

यह भी पढ़ें:   सवर्णो को भी अछूत बनाना चाहती है बीजेपी:सवित्रीबाई फुले

यह भी पढ़ें:   सीबीआई चुनाव से पहले पूछताछ कर ले य फिर बाद में,बीच में परेशान न करे

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी