गठबंधन व कांग्रेस के बीच बढ़ी तल्खी,अमेठी और रायबरेली से भी उतर सकते हैं प्रत्याशी

Foto

राजनीति के समाचार/political news

मायावती व अखिलेश दोनो हैं कांग्रेस से नाराज

लखनऊ। कांग्रेस के प्रति नरमी दिख रहे सपा बसपा के गठबंधन और कांग्रेस के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है,कांग्रेस के द्वारा घोषित प्रत्याशियों को सपा और बसपा के अधिपत्य वाले क्षेत्रों से भी चुनाव मैदान में उतारने के बाद से गठबंधन और कांग्रेस के बीच माहौल गरमा गया है।

मायावती के कांग्रेस से किसी भी राज्य में गठबंधन ना करने के एलान के बाद से ही चर्चा शुरु हो गयी थी कि शायद अब गठबंधन अमेठी और रायबरेली से भी अपने प्रत्याशी उतार दे और माना जा रहा है कि बुधवार को मायावती और अखिलेश के बीच हुई बैठक में इस पर चर्चा हुई है।

गठबंधन हालाकि अभी इसका अधिकृत एलान नही किया है पर कांग्रेस से अपनी नाराजगी के संकेत जरुर दिये हैं। माया अखिलेश की बैठक में कुछ सीटों की अदला बदली पर भी चर्चा हुई है। जब यूपी में सपा और बसपा का गठबंधन हुआ था तो उस समय कांग्रेस की परांपरागत सीटों रायबरेली और अमेठी पर प्रत्याशी ना उतारने की बात कही गयी थी।

कांग्रेस के द्वारा पहली सूची में सपा के अधिपत्य वाली बदायूं सीट से प्रत्याशी उतारे जाने के बाद से सपा प्रमुख भी कांग्रेस से नाराज हैं। लेकिन अब गठबंधन अपने फैसले पर पुन: विचार कर रहा है और हो सकता है कि अब इन दोनो सीटों पर भी गठबंधन के प्रत्याशी दो दो हाथ करते नजर आयें। गठबंधन की बैठक में चुनाव प्रचार के लिए संयुक्त रैलियों समेत कई मुद्दों पर चर्चा की गईं है

मायावती इस बात से भी नाराज हैं कि प्रियंका गांधी वाड्रा मेरठ के अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर से मिलने गईं। लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद अखिलेश यादव की मायावती से यह पहली मुलाकात थी। पश्चिमी यूपी में पहले, दूसरे और तीसरे चरण में अप्रैल महीने में ही चुनाव होने है।

पहले चरण की 8 सीटों के लिए 18 अप्रैल से नामांकन पत्र भरने का काम शुरू हो जाएगा। इन सीटों पर 11 अप्रैल को वोटिंग होनी है। समय कम है, इसलिए गठबंधन की एकजुटता का संदेश देने के लिए मायावती व अखिलेश यादव संयुक्त सभाएं करेंगे।

यह भी पढ़ें:   राजनीति नही अपने भाई से मिलने गयीं थीं प्रियंका:राजबब्बर

यह भी पढ़ें:    भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ का सम्मेलन, वित्त मंत्री हुए शामिल

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी