हार से निराश नहीं मायावती, कहा-EVM से उठा जनता का भरोसा

Foto

National News/भारत के समाचार 

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 का परिणाम सामने आने के बाद बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए सभी पार्टियों को धराशाई कर दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना ही गढ़ अमेठी बचा नहीं पाए। वहीं, अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव भी मामूली अंतर से हार गईं। यही नहीं कई दिग्गज नेता इस बार मैदान में धराशाई हो गए। वहीं, यूपी में बसपा ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की। लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती इतने सीटों के बाद भी निराश नहीं हैं। मायावती ने बयान जारी करते हुए ईवीएम पर ही निशाना साधा। कहा कि ईवीएम से जनता का भरोसा अब उठ चुका है। 

​मायावती ने कहा कि जहां से यूपी में गठबंधन की सीटें जीती गई वहां कि मशाीनों में गड़बड़ी नहीं कराई गई थी। जिससे जनता को ईवीएम के विषय में कोई शक नहीं हो।  गठबंधन के सभी छोटे बड़े कार्यकर्ताओं ने पूररी लगन से जमीनी स्तर पर काम किया है। उन्होंने कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव, रालोद के अजित सिंह ने ईमानदारी से काम किया। भाजपा को जिस तरह से अप्रत्याशित परिणाम इस बार के चुनाव में मिला है, वो जनता भी नहीं समझ पा रही। गठबंधन सपा, बसपा और रालोद आगे की रणनीति बनाने के साथ ही इस गंभीर विषय पर विचार करेंगे।

मायावती ने कहा कि देश में उन्होंने कई बड़े परिवर्तन देखे। समाज में आज तेजी से  दलित उपेक्षित वर्गों की भागीदारी बढ़ी है। सत्ताधारी पार्टी (भाजपा एंड कंपनी) ने ईवीएम को हाईजैक कर लिया है। जो नतीजे सामने आए हैं, उससे जनता का विश्वास उठ गया है। ईवीएम की जगह बैलट पेपर से चुनाव कराया जाना चाहिए। ऐसा करने में बीजेपी को आपत्ति किसलिए है। चुनाव अयोग और सत्ताधारी पार्टी दोनों ही ऐसा करने को तैयार नहीं। इसका अभिप्राय है कि जरूर कुछ न कुछ गड़बड़ है। जब सभी पार्टिंया यह बात कह रही कि मतपत्र से चुनाव कराया जाए। इस पर आयोग और बीजेपी को दिक्कत क्यों है। मायावती ने ​कहा कि मतपत्रों से चुनाव कराने को लेकर सुप्रीम कोर्ट को गंभीरता पूर्वक विचार करना चाहिए। यह उनकी कोर्ट से है। 

यह भी पढें:राहुल ने स्वीकारी हार, मोदी और बीजेपी को दी जीत की बधाई

यह भी पढें:कैटिच को वार्नर और स्मिथ से अच्छा खेलने की उम्मीद  

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी