अखिलेश के समर्थन में मायावती, कहा - लोकतंत्र की हत्या

Foto

Political News / राजनीति समाचार

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव को पुलिस ने लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका। वह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र संघ के कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे। इस मामले पर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने नाराजगी जाहिर की। उन्होंने इस मामले को लोकतंत्र की हत्या करार दिया और सरकार की तानाशाही बताया।

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा, 'समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को आज इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिये उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना अति-निन्दनीय व बीजेपी सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या की प्रतीक।'

ट्वीट ​कर इस मामले पर मायावती ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए लिखा, 'क्या बीजेपी की केन्द्र व राज्य सरकार बीएसपी-सपा गठबंधन से इतनी ज्यादा भयभीत व बौखला गई है कि उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गई है। अति दुर्भाग्यपूण। ऐसी आलोकतंत्रिक कार्रवाईयों का डट कर मुकाबला किया जायेगा।'

इस मामले पर अखिलेश यादव ने अपनी नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा, ''एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है।'

अन्य ट्वीट में अखिलेश ने लिखा, 'मुझे बिना किसी लिखित आदेश के हवाई जहाज में चढ़ने से रोका गया। फिलहाल लखनऊ एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया गया। यह स्पष्ट है कि छात्र नेता के शपथ समारोह से सरकार कितनी भयभीत है। भाजपा जानती है कि हमारे महान देश के युवा अब इस अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे।'

यह भी पढ़ें: लखनऊ एयरपोर्ट पर रोके गए सपा प्रमुख अखिलेश यादव

यह भी पढ़ें: योगी का बजट धोखा देने वाला : अखिलेश यादव

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी