...तो शुरू हो गया कांग्रेस का पत्तन, राहुल के बाद राज बब्बर ने दिया इस्तीफा

Foto

Political News/राजनीति के समाचार 

लखनऊ। लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव परिणाम आने के बाद सभी पार्टियों की खटियां खड़ी हो गई है। दिग्गज से दिग्गज नेता मैदान में धराशाई हो गए। यहां तक कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपना ही गढ अमेठी नहीं बचा सके। हार के बाद राहुल ने शीर्ष नेतृत्व सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा सौंपा था। वहीं, अब यूपी के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने भी इस्तीफे की पेशकश कर दी है। जिस तरह से कांग्रेस में शीर्ष नेताओं के इस्तीफे का दौर चल पड़ा है, मानो पार्टी का पत्तन शुरू हो चुका है। यदि इसी तरह दिग्गज नेताओं के इस्तीफे का सिलसिला जरी रहा तो फिर कांग्रेस पार्टी में बच ही कौन रहा है। गौरतलब है कि राज बब्बर फतेहपुर सीकरी से चुनाव हारे हैं। 

कांग्रेस को इस बात पर गौर करना होगा कि हार से सिर्फ सबक लेने की जरूरत है। हार जीत तो हर जगह होता रहता है। लेकिन इंसान हताश नहीं होता। लेकिन कांग्रेस की हताशा साफ नजर आ रही जिस तरह से नेता इस्तीफा दे रहे हैं। जबकि इस समय कांग्रेस को चाहिए, वह अपनी कमजोर कड़ी पर ध्यान देकर पार्टी के लिए अब जमीनी स्तर से रणनीति तैयार करना शुरू करे। गौरतलब है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में अकेले बीजेपी ने 300 सीटों का आंकड़ा पार करते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। पूरे भारत में मोदी लहर ने विपक्षियों को धूल चटा दी है। 

गौरतलब है कि कांग्रेस को मात्र 52 लोकसभा सीटों पर ही जीत हासिल हुई है। यहां तक कि इस बार कांग्रेस को प्रतिपक्ष में बैठने का भी अवसर नहीं मिला। चूंकि इसके लिए किसी भी पार्टी को 55 सीटों को प्राप्त करना जरूरी है। यदि विकल्प की बात करें तो ऐसा नहीं कि हार के बाद सबकुछ समाप्त हो जाता है। कांग्रेस को अपनी हार के कारणों को लेकर सभी बिन्दुओं पर गौर करना चाहिए। इसके बाद अपनी खोई जमीन को पाने के लिए फिर से जी जान से जुट जाना होगा।

यह भी पढें:बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय सिंह को साढ़े तीन लाख वोटों से हराया

यह भी पढें:सपा-बसपा गठबंधन का गणित फेल, हार के वजह की तस्वीर भी साफ

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी