राहुल जी पीएम के गले तो लग सकते हैं लेकिन 2019 में जनता गले पड़ने नहीं देगी

Foto

राजनीति के समाचार, Politics News 

 

कांग्रेस अध्यक्ष 2024 में फिर अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी करें


150 सीटों पर चुनाव लड़ने वाले राहुल पीएम बनने का सपना देख रहे

 

नई दिल्ली। अविश्वास प्रस्ताव पर पक्ष अथवा विपक्ष के आरोपों-प्रत्यारोपों को लेकर भले ही कोई चर्चा न हो लेकिन इस दौरान राहुल गांधी के अप्रत्याशित हरकत की हर तरफ चर्चा है। कांग्रेस अध्यक्ष के इस अप्रत्याशित कृत्य को लेकर सियासत भी खूब हो रही है। पीएम मोदी ने इसे राहुल का गले पड़ना करार दिया तो कांग्रेस ने इसे नफरत बनाम प्यार के साथ जोड़ दिया।

अब इस पर एक और सियासी बयान सामने आया है। भाजपा ने राहुल गांधी द्वारा पीएम मोदी को गले लगाने को लेकर कहा है कि राहुल गांधी भले ही पीएम मोदी को गले लगा लिया हो लेकिन 2019 में जनता उन्हे गले नहीं लगाने वाली है। 

 

ये भी पढ़ें: लोकतंत्र बचाने के लिए निजी स्वार्थ...

 

दरअसल कांग्रेस कार्य समिति में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संबोधन पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने कहा कि लोग राहुल गांधी को एक बार फिर खारिज  करेंगे। बीजेपी के मीडिया प्रभारी अनिल बलूनी ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस में लोकसभा में महज 150 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है और राहुल गांधी देश का प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं।

उन्होंने ट्वीट के जरिए राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘सुना है कि हताशा और निराशा में डूबी कांग्रेस ने अपनी बैठक में 150 सीटों पर चुनाव लड़ने का लक्ष्य रखा है जबकि कांग्रेस अध्यक्ष प्रधानमंत्री बनने का ख्वाब देख रहे हैं

उन्होंने लिखा कि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आप संसद में पीएम जी से गले पड़ तो सकते हैं लेकिन जनता 2019 में आपको अपने गले नहीं पड़ने देगी आप 2024 में अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी करिए।

 

ये भी पढ़ें: गले मिलने पर मोदी के वार का कांग्रेस...

 

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा नरेंद्र मोदी पर हमला किये जाने पर बलूनी ने कहा कि मनमोहन सिंह की सरकार का लक्ष्य भ्रष्टाचार बढ़ाना था लेकिन वर्तमान राजग सरकार का लक्ष्य किसानों की आय दोगुनी करना है।

बलूनी ने मनमोहन सिंह को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि देश ने आपको 10 साल तक देखा है, सोनिया और राहुल जी के अगुवाई में आपने केवल भ्रष्टाचार को कई गुना करने का लक्ष्य रखा था हमने किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है इस जरुर पूरा करेंगे। 

इससे पहले कांग्रेस ने शुक्रवार को दावा किया था कि राहुल गांधी का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गले मिलना मोदी के लिए बहुत बड़ा आश्चर्य रहा और इससे नफरत और हिंसा की उनकी राजनीति का पर्दाफाश हो गया। विपक्ष ने सवाल किया कि पीएम मोदी जब पाकिस्तान के नेता नवाज शरीफ से गले मिलना स्वीकार कर सकते हैं तो वह अपने देशवासी से गले मिलना गरिमापूर्व क्यों नहीं स्वीकार कर पा रहे हैं।

 

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी