राजनीति नही अपने भाई से मिलने गयीं थीं प्रियंका:राजबब्बर

Foto

राजनीति के समाचार/political news

पश्चिम की राजनीति से जोड़ कर देखी जा रही है प्रियंका और चन्द्रशेखर की मुलाकात

लखनऊ। अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के चीफ चन्द्रशेखर से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की मुलाकात पर लग रही राजनीतिक अटकलों पर विराम लगाते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा है कि वे वहां पर अपने किसी राजनीतिक फायदे के लिए नही गयीं थीं बल्कि अपने भाई से मिलने के लिए गयीं थीं।

गौरतलब है कि कांग्रेस की पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा बुधवार को मेरठ के अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के चीफ चन्द्रशेखर उर्फ रावण से मिलने पंहुची थीं। ऐसा माना जा रहा था कि कांग्रेस चन्द्रशेखर को अपने साथ शामिल कर उन्हे अपने टिकट पर चुनाव मैदान में उतार सकती है।

हालाकि प्रियंका गंधी ने खुद भी इस मुलाकात को मात्र औपचारिकता ही करार दिया था और साफ किया था कि इसका राजनीतिक मतलब ना निकाला जाये। प्रियंका ने चन्द्रशेखर की तारीफ करते हुए कहा था कि उन्हे इस लड़के का संघर्ष पसंद आया है इसीलिए वो उससे मिलने आयी हैं।

प्रियंका के चन्द्रशेखर से मिलने के बाद कयासों का दौर शुरु हो गया था। कांग्रेस भले ही दावा कर रही हो कि इसका कोई राजनीतिक कारण नही है पर सियासी हलको में इस मुलाकात को गठबंधन में बसपा के विकल्प के रूप में आंका जा रहा है।

चन्द्रशेखर पश्चित की राजनीति में उभरते हुए दलित नेता हैं और उन्हे खासा समर्थन भी मिल रहा है। माया के द्वारा कांग्रेस को खारिज किये जाने के बाद हुई इस मुलाकात ने बसपा को भी ये जता दिया है कि उसे कम कर ना आंका जाये।

कांग्रेस नेताओं को अभी इसे राजनीतिक रंग से देने से परहेज हो, लेकिन बसपा की तर्ज पर विस्तार ले रहे इस संगठन ने पश्चिमी यूपी की राजनीति में जो दखल बढ़ाई है, उससे अब इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें:   भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ का सम्मेलन, वित्त मंत्री हुए शामिल

यह भी पढ़ें:    देश भक्ति की बात करने वाले पहले हमारे छह सवालों के जवाब दें:सिद्धार्थनाथ

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी