यूपी से बाहर भी मायावती ने किया गठबंधन

Foto


राजनीति के समाचार/Political news


लखनऊ। यूपी में राजनीतिक घमासान तेज है। इसमें सभी दल एक दूसरे के लोगों को तोड़कर अपनी मूल पार्टी में लाने का प्रयास कर रहे हैं। इसके साथ ही गठबंधन में जोर लगाए हैं। लेकिन बसपा प्रमुख मायावती इन दिनों लोकसभा में बड़ी जीत की चाह रख यूपी से बाहर भी दौरे कर गठबंधन कर रही हैं। बसपा का चुनाव निशान हाथी है, जबकि जन सेना का चुनाव निशान गिलास है।


बसपा प्रमुख ने आंध्र प्रदेश की ओर अपना ध्यान केंद्रित किया है। इस नई कड़ी में मायावती ने जन सेना के साथ आज प्रेस कांफ्रेंस की है। जन सेना, तेलुगू स्टार पवन कल्याण का राजनीतिक दल है। मायावती की पार्टी बसपा और जन सेना मिलकर लोकसभा का चुनाव लड़ने जा रहे हैं। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एक साथ चुनाव लड़ने की जानकारी मायावती और पवन कल्याण ने मीडिया के जरिए लोगों की दी गई है।

आंध्र प्रदेश में कौन सी पार्टी को कितनी सीटें मिलेंगी, यह भी तय कर दिया गया है। लेकिन इसके गठबंधन होते ही चंद्रबाबू नायडू को छोड़कर अन्य दलों ने सवालों की बैछार कर दी है। पूछा जा रहा है कि मायावती ने कांग्रेस से किनारा किया है तो चंद्रबाबू नायडू के बारे में क्या कह रही हैं? आंध्र प्रदेश में लोकसभा की 25 सीटें हैं। यहां एक ही चरण में 11 अप्रैल को मतदान होगा। जन सेना पार्टी की स्थापना करीब पांच साल पहले 14 मार्च 2014 को पहले हुई थी। 

 

यह भी पढ़ें:    ब्राहमण महासभा ने सीएम योगी को पत्र लिख की ये मांग

यह भी पढ़ें      भाजपा के मोर्चे चुनाव में हर मोर्चा लेने के लिए तैयार

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी