ये किसानों का सम्मान नही अपमान है:मायावती

Foto

राजनीति के समाचार/political news

लखनऊ। देश के अन्नदाता को थोड़ी सी सरकारी मदद देकर बीजेपी की सोच अहंकारी हो गयी है,ये किसानों का सम्मान नही अपमान है। उक्त विचार प्रदेश की पूर्व सीएम व बसपा प्रमुख मायावती ने बीजेपी की केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए व्यक्त किये।

यूपी में बसपा सपा का गठबंधन होने के बाद बीजेपी को करारी हार देने की कवायद में जुटी बसपा लगातार प्रदेश व देश की बीजेपी सरकार पर हमला बोल रही है। इसी क्रम में बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि बीजेपी सरकार ने किसानों से झूठे वादे किये।

उन्होने कहा कि किसानों की आय दुगनी करने का वादा करने वाली सरकार किसानों को उनकी फसल का मूल्य तक नही दिलाा पा रही है। कर्ज माफी का दवा भी हवाहवाई साबित हुआ है। उन्होने कहा कि बीजेपी सरकार की किसान सम्मान योजना जिसका शुभारम्भ पीएम मोदी ने किया है वह भी महज एक छलावा है। उन्होने कहा कि ये योजना मेहनतकश किसान के लिए सम्मान नही बल्कि अपमान ही ​है। 

उन्होंने एक बयान में कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत कुछ किसानों को तीन किश्तों में सालाना मात्र 6,000 रुपया देना किसानों का खुला अपमान है।  मायावती ने कहा कि यह खेती, किसानी और किसानों की दिन-प्रतिदिन गंभीर होती जा रही समस्याओं से निपटने के मामले में भाजपा सरकार की छोटी और अपरिपक्व सोच का जीता-जागता प्रमाण है. इससे किसान समाज को सतर्क रहने की ज़रूरत है

उन्होंने कहा ​कि किसान देश का सबसे बड़ा मेहनतकश समाज है उन्हें थोड़ी सी सरकारी मदद देने की भाजपा सरकार की सोच अनुचित ही नहीं बल्कि अहंकारी भी है। उन्होंने कहा कि किसान सबसे पहले अपनी फसल का लाभकारी मूल्य चाहता है और इस वायदे को पूरा करने में पर भाजपा सरकार विफल साबित हुई है।

यह भी पढ़ें:   पाकिस्तानियों को मिल रहा मुंहतोड़ जवाब: मुख्तार अब्बास 

यह भी पढ़ें:    मै कानून को मानता हूं इसलिए उस दिन नही आया:अखिलेश

leave a reply

राजनीति के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी