बजट रूपी ब्लास्ट से धराशयी हुआ विपक्ष!

Foto

सरोकार/Concern

संसद में पीएम मोदी का एक और मास्टर स्ट्रोक 

विशाल मिश्रा

लोकसभा चुनाव की दस्तक के बीच मोदी सरकार ने संसद में शुक्रवार को जो आंतरिम बजट पेश किया है, उसे यदि चुनावी ब्लास्ट कहा जाये तो गलत नहीं होगा। क्योंकि इस बजट में टैक्स पेयर्स से लेकर किसानों मजदूरों व नौकरी पेशा लोगों को राहत देने का ऐलान किया गया है। वित्तमंत्री ने जब संसद में टैक्स दाताओं को धन्यवाद कहा तो लगा इसके बाद कुछ भी नहीं होगा। उन्होंने आगे बोलना शुरु किया तो फिर जो राहत का पिटारा खुला उसने काफी चेहरों पर खुशी ला दी। विपक्ष भले ही इसे सरकार का जुम्ला करार दे रहा हो, पर हकीकत यह है कि मोदी के एक और मास्टर स्ट्रोक ने सभी को चारों खाने चित कर दिया है।


लोकसभा चुनाव में इस बार लड़ाई कांग्रेस बनाम बीजेपी ना हो कर एनडीए बनाम संपूर्ण विपक्ष होती दिख रही है। यूपी में अलग गठबंधन तो अन्य राज्यों में अलग गठबंधन से ये तो साफ हो गया है कि विपक्ष एक मंच पर आने की बात भले ही कर रहा हो पर उसके अंदर अभी कहीं ना कहीं बिखराव है। वहीं, केंद्र में सत्तासीन मोदी सरकार ने पहले एस सी एसटी एक्ट को लेकर कानून और फिर तीन तलाक पर अध्यादेश और फिर आर्थिक रुप से पिछड़े लोगों को दस फीसदी आराक्षण देने के फैसले ने विपक्ष को बैकफुट पर धकेलने का काम किया है।


इसी बीच संसद में पेश किया गया आंतरिम बजट भी सत्तासीन पार्टी के लिए संजीवनी का काम करेगा। साथ ही इससे सीधा लाभ जनता को भी मिलेगा। बजट में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय रहा आयकर की सीमा का बढ़ाया जाना। जिसे सरकार ने ढाई लाख से सीधे बढ़ाकर पांच लाख कर दिया है। कहीं ना कहीं इसका लाभा मध्यमवर्गीय लोगों को पंहुचता दिख रहा है। वहीं, किसानों के मुद्दे पर ​बार बार घिर रही मोदी सरकार ने 6 हजार रुपये सीधे किसानों के खाते में देने के फैसले से उसे भी दूर करने का प्रयास किया है। 

पीएम मोदी का साठ साल की आयु पूरी करने वाले मजदूरों को पेंशन देने का फैसला भी सराहनीय कदम के रुप मे देखा जा रहा है। सरकार ने रक्षा बजट को बढ़ाकर देश की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दिखायी है। यही नहीं सरकार ने ग्रेच्युटी की सीमा को दस लाख से बढ़ाकर 30 लाख कर दिया है। इससे माना जा रहा है कि कहीं ना कहीं सरकार को इसका लाभ चुनाव में मिलेगा। विपक्ष भले ही इसे वोटों का बजट बता रहा हो, लेकिन जनता को बजट का लाभ जरुर मिलेगा।

हिंदू लड़की से शादी करने से पहले मुस्लिम युवक ने बदला अपना धर्म 

एक बार फिर सुनाई पड़ेगी काठा नदी की कल-कल...

leave a reply

सरोकार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी