हिंदू लड़की से शादी करने से पहले मुस्लिम युवक ने बदला अपना धर्म 

Foto

 

 

सरोकार के समाचार 

अब पत्नी को पाने के लिए लगा रहा कोर्ट के चक्कर

 

नई दिल्ली। इश्क भी क्या चीज है, जूनून के हद तक पहुंचने पर युवक कुछ भी कर गुजरने को तैयार हो जाते हैं। ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ से सामने आया है। यहां पर एक मु्स्लिम लड़के ने हिंदू लड़की से शादी करने से पहले अपना धर्म बदलकर हिंदू धर्म अपना लिया। लेकिन लड़की के परिवारीजन उसके इस प्रकार धर्म परिवर्तन के बावजूद लड़की को उसके साथ भेजने को राजी नहीं हैं। 

 

यह भी पढ़े: एक बार फिर सुनाई पड़ेगी काठा नदी की कल-कल...

 

छत्तीसगढ़ में 23 साल की लड़की से शादी करने के लिए एक 33 वर्षीय मुसलमान युवक ने हिंदू धर्म अपना लिया। लेकिन अब लड़की के परिवारीजन लड़की को उसके साथ भेजने को तैयार नहीं हैं। युवक अब अपनी प्रेमिक को पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई है। युवक की याचिका पर प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने छत्तीसगढ़ सरकार से जवाब मांगा है और याचिका की प्रति राज्य सरकार के वकील को देने का निर्देश दिया है। पीठ ने यह भी आदेश जारी किया कि यह निर्देश पुलिस अधीक्षक को भेज दिया जाए।

 

यह भी पढ़े: पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेयी की हालत बेहद नाजुक, कुछ देर में एम्स जारी...

 

मोहम्मद इब्राहिम जो अब आर्यन आर्य बन चुके हैं ने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए कहा है कि उसने उसकी पत्नी के परिवारीजन जबरन उसकी पत्नी को अपने पास रखे हैं, उसने कहा कि हाईकोर्ट ने उसकी पत्नी को वापस न दिलाने के आदेश जारी कर गलती की है। उसके सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि उसकी तथा उसकी पत्नी को जान का खतरा है,उसकी पत्नी को उसके माता-पिता उसकी मर्जी के विरुद्ध स्वतंत्रता से वंचित कर रहे हैं।

 

यह भी पढ़े:  जब क्लासरूम में ही छात्रा पीने लगी शराब...

 

उसे भी उसकी पत्नी के घरवाले और समाज के  कुछ अन्य कट्टरपंथी तत्व धमकी दे रहे हैं। याचिका में आर्यन आर्य ने कहा कि उसकी पत्नी ने उच्च न्यायालय में कहा कि वह 23 साल की है और बालिग है तथा अपनी मर्जी से उसने उससे शादी की है। उच्च न्यायालय ने उसे अपने माता-पिता के साथ रहने या छात्रावास में उसके रहने का इंतजाम कराने का निर्देश दिया। दोनों ने 25 फरवरी, 2018 को रायपुर में एक आर्य समाज मंदिर में शादी की थी।

 

leave a reply

सरोकार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी