दिल्ली की हवा ‘अत्यंत खराब’

Foto

State News / राज्य समाचार

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा की गति कम होने के कारण बुधवार को वायु गुणवत्ता 'अत्यंत खराब' की श्रेणी में रही और कुछ इलाकों में प्रदूषण का स्तर 'गंभीर' श्रेणी में चला गया।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार शहर में समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 387 दर्ज किया गया जो 'अत्यंत खराब' की श्रेणी में आता है।

बोर्ड ने बताया कि दिल्ली के 13 इलाकों में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' स्तर पर दर्ज की गयी। वहीं, 23 क्षेत्रों में यह 'अत्यंत खराब' दर्ज की गयी।

आंकड़ों के अनुसार, बुधवार को पीएम 2.5 (हवा में मौजूद 2.5 माइक्रोमीटर से कम व्यास के कणों) का स्तर हवा में 248 दर्ज किया गया और पीएम 10 का स्तर 402 रहा।

वायु गुणवत्ता सूचकांक में शून्य से 50 अंक तक हवा की गुणवत्ता को 'अच्छा', 51 से 100 तक 'संतोषजनक', 101 से 200 तक 'मध्यम व सामान्य', 201 से 300 के स्तर को 'खराब', 301 से 400 के स्तर को 'अत्यंत खराब' और 401 से 500 के स्तर को 'गंभीर' श्रेणी में रखा जाता है।

केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) के अनुसार, हवा की गुणवत्ता अगले दो-तीन दिन अत्यंत खराब रहने की संभावना है। 

सफर ने एक रिपोर्ट में कहा कि इस समय हवाएं प्रतिकूल हैं और आर्द्रता का स्तर अधिक बने रहना भी प्रतिकूल है। पराली जलाने के मामलों में थोड़ी कमी आई है और इसका मामूली असर रहेगा।

अधिकारी प्रदूषण कम करने के लिए कृत्रिम वर्षा कराने पर विचार कर रहे हैं लेकिन इसके लिए जरूरी मौसम संबंधी परिस्थितियां भी अनुकूल नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: मोदी जी हमारे किसानों का मज़ाक़ उड़ाते हैं : राहुल गांधी

यह भी पढ़ें: लालू परिवार की कम हो सकती हैं मुश्किलें

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी