डीजीपी ने किया पुस्तक का विमोचन, दिया व्याख्यान

Foto

State News / राज्य समाचार


अभय पांडेय 

गोरखपुर। तारामंडल में स्थित शिव-शक्ति लॉन में डीजीपी गुजरात डॉ विनोद कुमार मल्ल द्वारा बुद्ध से कबीर तक पुस्तक का विमोचन किया। प्रेसवार्ता करते हुए बुद्ध से कबीर तक का व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि बुद्ध और कबीर के मूल्यों और दर्शन को समझना तथा उसे लोगों तक पहुंचना। ऐसे समाज की स्थापना करना जिसके सामाजिक मूल्य, विविधता, धर्मनिरपेक्षता, समानता और बहुसांस्कृतिवाद पर आधारित हो।


तीन दिनों की यात्रा


उन्होंने कहा कि यात्रा 14 से 17 फरवरी तक होने वाली हैं। यह यात्रा कुशीनगर से प्रारंभ होकर गोरखपुर तथा गोरखपुर से प्रारंभ होकर मगहर तक कबीर समाधि तक जायेगी। डॉ मल्ल ने बुद्ध से कबीर तक की यात्रा के बारे में जवाब देते हुए कहा कि इस यात्रा के आयोजन का उद्देश्य अपनी बहुसस्कृतिक विविधताओं को साथ लेकर चलने वाली गौरवशाली साझी विरासत का उत्सव मानना, संवैधानिक राष्ट्रवाद को बढ़ावा देना व जनमानस को इसके बारे में जागरूक करना है। इन महान परंपराओं को हमेशा के लिए सहेज कर रखने वाली भावना को बढ़ावा देना है।


संस्कृति का प्रतिनिधित्व


जब डीजीपी से पूछा गया गया कि केवल बुद्ध और कबीर ही क्यों? इसका उत्तर देते हुए कहा कि ये दोनों इतिहास के वह दो समय बिंदु ,है जो अपने बीच दो हज़ार वर्षो में आने वाले अनेको महापुरुषों के संदेश को, हमारी बहुरंगी संस्कृति को और दुनिया को राह दिखा सकने वाली हमारी धर्मनिरपेक्ष संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हैं। वहीं, सुनील कुमार मल्ल (कमिश्नर कस्टम) ने कहा कि एक क्षण एक में एक दिन बदल सकता है। एक दिन एक जीवन को बदल सकता हैं और एक जीवन पूरे विश्व को बदल सकता है  यदि उस क्षण को आपने पूरी शिद्द्त से जिया है, तो आप अपरमित संभावनाओ से सिक्त हो जायेंगे।

 

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ से PM मोदी का वार - कांग्रेस ने देश को किया गुमराह

यह भी पढ़ें: कोई मां का लाल पीएम मोदी की नीयत पर सवाल नहीं उठा सकता : राजनाथ

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी