मुख्य सचिव की बैठक में ही चली गयी बिजली

Foto

राज्यों के समाचार/ State News
 

सूबे की नौकरशाही के मुखिया ने अंधेरे में ही पूरी की बैठक,ऊर्जा मंत्री के दावे हुए हवा

लखनऊ। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा के बड़े बड़े दावे आज उस वक्त हवा हो गये जब नौकरशाही के मुखिया की बैठक में योजना भवन की ही बिजली चली गयी,जहां यह देखकर अधिकारियों के ​हांथ पांव फूल गये वहीं मुख्य सचिव ने बिना आपत्ति जताये अंधेरे में ही अपना काम पूरा किया और बैठक समाप्त कर चले गये।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कुछ दिन पहले ही दावा किया था कि पहले बिजली आती नहीं थी और अब जाती नहीं हैं इसी के साथ उन्होंने 24 घंटे बिजली देने की प्रतिबध्यता भी जताई थी लेकिन आज उनके दावे तब खोखले साबित हुए जब राजधानी लखनऊ के पॉश इलाक़े में बने योजना भवन में ही बिजली गुल हो गयीI  बिजली गयी भी तो तब जब मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय बैठक कर रहे थे इस दौरान उनके साथ प्रमुख सचिव खादी ग्रामोद्योग भी मौजूद थे।

 

ये भी पढ़ें:  उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए होगी ओडीओपी समिट

 

मुख्य सचिव की मौजूदगी में योजना भवन जैसी वीआईपी स्थल पर बिजली के जाने से विभाग की व्यवस्था पर सवालिया निशान लग गया है।आज राजधानी लखनऊ में सूबे के सबसे बड़े अधिकारी यानी मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय ने उद्योग बंधुओं के साथ बैठक की ये बैठक योजना भवन में रही गयी जहाँ मुख्य सचिव के अलावा प्रमुख सचिव खादी ग्रामोद्योग नवनीत सहगल भी बैठक के लिए पहुंचे।

इस दौरान मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने ऑनलाइन ट्रेंडिंग कम्पनी अमेजन के साथ एमओयू साइन किया। इसके तहत एक जनपद एक उत्पाद योजना को अमेजन से जोड़ा जायेगा।

बैठक में सुनिश्चित हुआ कि ओडीओपी के जरिये 2 करोड़ व्यापारियों को जोड़ने का काम किया जायेगा। इस दौरान मुख्य सचिव ने कहा कि गोरखपुर में मेगा फ़ूड पार्क लाने का भी ऐलान किया उन्होंने कहा कि फ़ूड पार्क के लिए गीडा को जमीन दे दी गयी हैं।

 

ये भी पढ़ें:  महात्मा गांधी व्यक्ति नहीं एक संस्था थे : राज्यपाल

 

बता दें कि जब मुख्य सचिव बैठक कर रहे थे उसी दौरान योजना भवन में लाइट चली गयी जिसके बाद सूबे के सबसे बड़े नौकरशाह ने बिना बिजली के ही ये अहम बैठक की। तकरीबन 3 से 4 मिनट तक बिना रोशनी के मीटिंग अँधेरे में ही चलती रही। गौरतलब बात तो ये है कि योजना भवन राजधानी के पॉश इलाक़े में है। सवाल ये उठता है कि जब मुख्य सचिव को बिजली नहीं मिल रही तो आम जनता का क्या हाल होगा।

leave a reply

राज्यों के समाचार

Live: ख़बरें सबसे तेज़

प्रमुख श्रेणी